Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Tue, Jan 12th, 2021

    कॉन्ट्रैक्ट पर चल रही कारों का मुद्दत बढ़ाने का प्रयास ?

    – विधायक के हस्तक्षेप पर मनपा के GAD का गजब कारनामा

    नागपुर : नागपुर महानगरपालिका प्रशासन नियम से ज्यादा परंपरा पर चलाई जा रही,इस चक्कर में कई बार नियमों को ताक पर रख दिया जाता हैं.मनपा में कई वर्षों से मासिक किराए पर कारें ली जाती हैं,वर्त्तमान में लगे कारों का CONTRACT PERIOD समाप्ति के करीब देख,शहर के एक विधायक ने अपने करीबी कार संचालकों का PERIOD EXTENSION करने हेतु GAD को निर्देश दिया।इस संबंध में GAD ने एक प्रस्ताव तैयार कर वरिष्ठ अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत किये जाने की जानकारी मिली हैं.

    याद रहे कि MMC एक्ट के तहत मनपा के लगभग 1 दर्जन अधिकारी-पदाधिकारी को ही वाहन सुविधा देने का प्रावधान हैं.क्यूंकि मनपा नियम से कम परंपरा से अधिक चल रही इसलिए पिछले डेढ़-2 दशक से सैकड़ों पदाधिकारी-अधिकारी और कर्मियों को वाहन सुविधा दे रखी हैं.इसके लिए मनपा में मंजूर ड्राइवर पद सीमित होने और वाहन भी सीमित होने से किराए पर कई दर्जन कारें ली जाती हैं.दूसरी ओर कई दर्जन अधिकारियों को वेतन सह PETROL ALLOWANCE भी दिया जाता हैं.इसके बाद भी दोहरे लाभ का फायदा उठा रहे.

    जब इसकी वजह पूछी जाती हैं तो उनका सीधा जवाब होता हैं कि उक्त सभी लाभार्थियों को कार्यालयीन कामकाजों के लिए कारें उपलब्ध करवाई गई हैं.इससे मनपा को मासिक नुकसान वहन करना पड़ रहा हैं.

    एक दर पर लगती थी कारें
    पिछले डेढ़-2 दशक से तय एक ही दर पर कारें लगा करती थी.लेकिन पिछले टेंडर के वक़्त उक्त विधायक की हस्तक्षेप के कारण GAD ने एक ही टेंडर में विभिन्न दरों के कारों को अपनाया।कोई 22000 तो कोई 28000 मासिक दर से किराया उठा रहा.

    टेंडर की मुद्दत समाप्ति पर
    टेंडर की मुद्दत समाप्ति के करीब देख कुछ कार मालिकों ने उक्त विधायक से पुनः टेंडर प्रक्रिया करने के बजाय EXTENSION दिलवाने की गुजारिश की तो उक्त विधायक ने GAD को हड़काया कि सभी का EXTENSION का एक प्रस्ताव तैयार कर मंजूरी हेतु पहल की जाए ,नतीजा प्रस्ताव भी तैयार हुआ और वरिष्ठ अधिकारियों तक भेज भी दिया गया.अब देखना यह हैं कि मनपा प्रशासन उक्त मसले पर क्या निर्णय लेती हैं.

    टेंडर के अतिरिक्त 2 कार लगी किराए से
    टेंडर के पूर्व कारों की जरूरतों पर समीक्षा होती हैं,इसके बाद तय कारों के लिए टेंडर प्रक्रिया की जाती हैं.ऐसा वर्ष 2 फरवरी 2018 में हुआ था,इसके बाद GAD ने 2 अतिरिक्त कारों को बिना टेंडर के मनपा बेड़े में शामिल किया।इनमें से एक कार GAD प्रमुख के ड्राइवर की तो दूसरी CAFO के लिए एक कार ली गई.अर्थात GAD प्रमुख से ज्यादा उसका ड्राइवर की GAD में तूती बोल रही,अर्थात ‘चाय से ज्यादा,केतली गर्म हैं’.

    उल्लेखनीय यह हैं कि मनपायुक्त बारंबार आर्थिक तंगी का बहाना सामने कर मनपा के सब काम अटका रखे हैं,क्या मनपा में चल रही गैरकानूनी खर्चों पर भी लगाम लगाने का प्रयास करेंगे या फिर कथनी और करनी में फर्क दिखाएंगे।

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145