Published On : Fri, Mar 3rd, 2017

Video: क्या आपने पंडित मेश्राम का गाना सुना है?

 नागपुर: वह महाराष्ट्र पुलिस की सेवा में हैं और इस समय नागपुर के नंदनवन थाने में बतौर सहायक उप निरीक्षक के पद पर कार्यरत हैं। लेकिन यह उनकी पहचान नहीं है। उनकी असल पहचान बन गया है वह वीडियो जो इनदिनों यूट्यूब पर वायरल हो रहा है। जी हाँ, हम पंडित मेश्राम की बात कर रहे हैं। ‘नशामुक्ति’ पर उनका वीडियो युवाओं और सेहत के लिए फिक्रमंद लोगों के बीच खासा लोकप्रिय है। यूँ पंडित मेश्राम को गायन और लेखन का शौक़ रहा है। उन्होंने ‘नशामुक्ति’ के लिए गाए अपने गाने के गीत भी स्वयं ही लिखे हैं। पंडित मेश्राम ने हिंदी और मराठी फिल्मों के लिए भी गीत लिखे हैं। इनमें मराठी फिल्म ‘गोट्याची कमाल सोट्याची धमाल’ के गीत काफी सराहे गए हैं। उन्होंने अभी तक 38 गीत लिखे हैं।

‘नशामुक्ति’ वीडियो की प्रेरणा पंडित मेश्राम को इस तथ्य से मिली कि समाज में होने वाले लगभग हर अपराध के पीछे ‘नशे’ की बड़ी भूमिका होती है। इस गाने को फिल्माने और पोस्ट प्रोडक्शन पर हुए सारे खर्च का उन्होंने स्वयं ही वहन किया है। नागपुर के पुलिस आयुक्त डॉ. के. वेंकटेशम ने भी अपने इस कर्मचारी के जज्बे की भूरि-भूरि प्रशंसा की है।

1985 से महाराष्ट्र पुलिस की सेवा में आ गए पंडित मेश्राम ने अपने हुनर को अनदेखा नहीं किया और लगातार कविता और गीत के जरिए समाज में जन-जागरण का काम कर रहे हैं। आइए पंडित मेश्राम की ‘नशामुक्ति’ वीडियो देखते हैं… और सराहते हैं महाराष्ट्र पुलिस के इस जवान के हौंसले की….


—रविकांत कांबळे