Published On : Sun, Aug 18th, 2019

गोंदिया: पांगोली नदी में युवक डूबा

बर्थडे की खुशियां मातम में बदली

गोंदिया: जोश के साथ , होश का रहना भी जरूरी है अन्यथा अति उत्साह में उठाया गया कदम कभी-कभी जानलेवा बन जाता है‌। हृदय विदारक घटना 17 अगस्त शनिवार शाम 6 बजे गोंदिया ग्रामीण थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम खमारी के मरघट निकट स्थित पांगोली नदी में घटित हुई।

गोंदिया के फूलचुर इलाके का निवासी 22 वर्षीय युवक नितिन जयवार यह दोपहर 3 बजे बर्थडे पार्टी मैं शामिल होने दोस्तों के साथ पतंगा मैदान से आगे महेश्वरी राइस मिल से होकर कच्चे रास्ते से मरघट के निकट ग्राम खमारी के पांगोली नदी तट पर पहुंचा था।

दोस्तों के बीच खाना- पीना हुआ फिर नहाने की सनक सूझी , तैराकी का हुनर न आने के बावजूद नितिन जयवार यह पांगोली नदी के पानी में उतरा , हालांकि नदी में 10 से 12 फिट से ज्यादा पानी नहीं था लेकिन भीतरी सतह पर कीचड़ होने से और तैराकी का गुर न आने की वजह से वह कीचड़ में फंस गया ।

दोस्त को पानी में डूबता देख फोन द्वारा हादसे की जानकारी गोंदिया ग्रामीण थाने को दी गई तत्काल जिला आपदा प्रबंधन की टीम और जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय की बचाव-शोध -पथ टीम मौके पर पहुंची तथा सर्च लाइट , रबर ट्यूब की मदद से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया और पानी के भीतर कीचड़ में फंसे युवक को गोताखोर जवानों ने ढूंढ निकाला और शीघ्र गोंदिया मेडिकल अस्पताल लेकर पहुंचे ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ने युवक को मृत घोषित कर दिया |

गोंदिया ग्रामीण थाना प्रभारी मनोहर दाभाड़े के मार्गदर्शन में सपोनि गुटाड़ ,पो हवा.कुंभले , पारधी , परसमोड़े , सुभाष कश्यप राजकुमार बोपचे , जसवंत राहंगडाले , संदीप कराडे, धीरज दुबे , रूपेंद्र गौतम , इमरान सैयद, जावेद पठान , गृह रक्षक इंद्रकुमार बिसेन , पवन जगने , चिंतामन गिरिपुंजे , बिसराम तिवंडे तथा के.के. वाघाड़े ने रेस्क्यू ऑपरेशन में हिस्सा लिया।

विशेष उल्लेखनीय है कि राजेगांव के बाघ नदी में एक कावड़िए के डूबने की घटना 4 दिन पूर्व घटी , यह 1 सप्ताह के भीतर दूसरा मामला है।