Published On : Sun, Jul 19th, 2015

यवतमाल (पुसद) : न.प. स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या घटी


स्कूलों में असुविधाओं का आलम
कम्प्यूटर शिक्षक ही नही अधिकांश स्कूलों में 

File Pic

File Pic


पुसद (यवतमाल)।
तहसील के न.प. के स्कूलों में छात्रों को असुविधाओं का सामना करना पड रहा है. फिलहाल विद्यार्थियों के आंकड़े देखकर न.प. के स्कूलों से अभिभावकों का भरोसा उठता हुआ दिखाई दे रहा है. विद्यार्थियों की स्कूल में हो रही कमी को देख शिक्षा विशेषज्ञों चिंता में पड़ गए है. ग्रामीण विभाग में न.प. के प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च माध्यमिक स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या कम हो रही है. इस कम विद्यार्थियों की संख्या को देखकर अन्य अभिभावक अपने बच्चों को न.प. स्कूल में भेजना पसंद नही कर रहे है.

अधिकतर स्कूलों में शौचालय, बिजली आपूर्ति, विकलांगों के लिए रैंप, खेल के मैदान और अनेक असुविधाओं के चलते अनेक स्कूल बंद होने की के कतार में आ गई है. इंटरनेट के दौर में कंप्यूटर का महत्व बढ़ गया है. स्कूल में दिए गए कम्प्यूटर केवल शो-पीस की तरह रखे हुए है. जब स्कूल में जांच के लिए कोई अधिकारी आता है, तब ही इस कम्प्यूटर की धूल पोछी जाती है. यह वास्तविक स्थिति है. तो कई स्कूलों में कम्प्यूटर तज्ञ शिक्षक भी नही है. जिससे कई विद्यार्थी कम्प्यूटर के ज्ञान और लाभ से वंचित है.

अधिकांश स्कूलों में किचन शेड भी नही वहीं पिने के पानी की समस्या आज भी है. गणवेश वितरण में विलंब होना ऐसी अनेक असमस्याओं के चलते अभिभावकों की न.प. के स्कूलों के प्रति उदासीनता साफ झलकती है.