Published On : Sat, Feb 7th, 2015

सावनेर : विश्व निर्माण में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका – उर्मिला जुवारकर


निरोगी और संस्कारी महिला घर, परिवार, समाज संस्कारित कर सकती है

Yogasan (1)
सावनेर (नागपुर)। समाज में महिला व उसका स्थान अब बदल रहा है. बच्चों को संभालकर समाज में पुरुषों के खंदे से खंदा मिलाकर समाज को प्रगति पथ पर ले जाने का कार्य आजकी महिला कर रही है. इस वजह से महिलाओं की जिम्मेदारियां व काम बढ़ गए है. ऐसे में महंगी दवाओं पर अवलम्बित न रहकर निशुल्क रूप से योग व प्राणायम तथा थोड़ासा व्यायाम करके खुद को निरोगी व स्वस्थ रखने के लिए अब महिलाओं ने अपनी कमर कस ली है. ऐसा महिलाओं की उपस्थित संख्या को देख स्पष्ट होता है. ऐसा प्रतिपादन योगाचार्य उर्मिला जुवारकर महामंत्री नागपुर जिला भारत स्वाभिमान शोभा भागिया प्रभारी पंतजलि योग समिति नागपुर ने किया. वे वेकोलि स्टेडियम पर पंतजलि योग समिति व युवा शक्ति विकास मंच द्वारा आयोजित योग व प्राणायम शिविर में सूत्र संचालन कर रही थी.

महिला कई परेशानियों का सामना करती रहती है तथा घर के कामों में व्यस्त रहती है. इस वजह से कमर दर्ज, सिर दर्ज, अनिद्रा समेत कई बीमारियां महिलाओं को होती है. लेकिन योग प्राणायम व्यायाम व योगासन नियमित करने से हम अपना आरोग्य, निरोगी व स्वस्थ रख सकते है. ऐसा आवाहनात्मक प्रबोधन करते हुए शिविर में महिला विशेष योग, प्राणायम व व्यायाम महिलाओं से करवाया.

Yogasan (2)
इस दौरान सूत्र संचालन करते हुए मंच पर महिला योगाचार्य, योग शिक्षिका उर्मिला जुवारकर, शोभा भागीया, सीमा धांडे, माधुरी ठाकरे सहित योगाचार्य छाजूराम शर्मा, राजेन्द्र जुवारकर आदि मंच पर उपस्थित थे.

जुवारकर मंचासीन होते ही महिलाओं में उत्साह संचार होकर संपूर्ण सत्र उत्साह में पूरा हुआ. तनुश्री व आँचल गायकवाड़, सूरज चिखले ने नारायण गायकवाड़ के मार्गदर्शन में शिरसासन, चकासन, हत्तासन, कुकुटासन, मयूरासन जैसे मुश्किल आसन को आसान करके दिखाते हुए अभ्यास करने पर कोई भी आसन या कार्य मुश्किल नहीं. ऐसा संदेश देते हुए योगसाधकों को योग प्राणायाम सहित व्यायाम व आसन अभ्यास होने की कल्पना करके दी.

Yogasan (3)
कार्यक्रम का संचालन किशोर ढुंढेले ने वही आभार प्रदर्सन चव्हाण ने किया. महिला विशेष सत्र के सफल नियोजन के लिये लता ढवले, माया पेठे, सुमन तिड़के, मनोरमा चव्हाण, कुंदा बावने ज्योति सिरस्कर, धर्मशीला राय, सुष्मा जमाईवार, पते, संजयरिवार अशोक ब्रह्मवंशी, सुरेश पारवे, मनोहर दिवरे, साहिल ढवले, विनोद काले आदि ने प्रयास किया.