Published On : Tue, Jan 27th, 2015

अमरावती : आरक्षण के लिए सीएम को भेजेंगे 20000 पत्र


एमआइएम का अभियान शुरु

MiM
अमरावती।
महाराष्ट्र में मुस्लिम समाज अन्य वर्गो से पिछड़ा हुआ है. किसी भी क्षेत्र में मुस्लमानों की हिस्सेदारी नहीं के बराबर है. मुस्लिम समाज को मुख्य धारा में लाने के लिए सरकार ने शैक्षणिक व सरकारी नौकरियों में आरक्षण देना चाहिये. इसी बात को राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस तक पहुंचाने के उद्देश से अमरावती शहर एमआइएम की ओर से 25 जनवरी रविवार से जिले भर में पत्र अभियान छेड़ा गया है. इस अभियान के तहत सीएम फडणवीस को 20 हजार पत्र भेेजे जाएगे. वहीं 30 हजार लोगों के हस्ताक्षर वाला ज्ञापन भेजा जाएगा. रविवार को शहर के चांदनी चौक, असोरिया पेट्रोल पंप, जमील कालोनी, पठान चौक से इस अभियान की शुरुवात की. इस समय एमआइएम के शहराध्यक्ष मो.नाजीम, उपाध्यक्ष राशीद अथर, हाजी अकबर,डा.बशीर पटेल, सै.इर्शाद अली, सै.उस्मान प्रमुखता से उपस्थित थे.

30 जनवरी तक चलेगा अभियान
इस अभियान के तहत प्रत्येक चौक-चौराहे पर एमआइएम का स्टाल लगाया जाएगा. यहां कोरे पत्र देकर आरक्षण पर जानकारी को विचार लिखकर सीधे मुख्यमंत्री के नाम से पोस्ट किये जाएगे. वहीं आरक्षण के पक्ष में हस्ताक्षर अभियान भी लिया जा रहा है. 27 जनवरी को कैम्प मस्जिद के पास, बिच्छुटेकडी, साबनपुरा व बडनेरा तथा 30 जनवरी को सभी चुनींदा मस्जिद के पास यह अभियान चलायेगी. सभी पत्र इकठ्ठा कर सीएम को भेजा जाएगा. इस अभियान को लोगों का बेहतर प्रतिसाद मिल रहा है. पहले ही दिन 5 हजार से अधिक लोगों ने पत्र व हस्ताक्षर अभियान में सहभाग लिया. प्रत्येक स्टाल पर लोगों की भीड़ दिखाई दी. इससे पता चलता है कि मुस्लिम समाज के लिए आरक्षण कितना महत्वपुर्ण है. इस अभियान को सफल बनाने एजाज काजी, शहजाद खान, खालीद पटेल, अफजल खान, रिजवान खान, मो.इकबाल, अ.राजीक, मो.अन्सार समेत अन्य ने प्रयास किये.