| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Tue, Aug 18th, 2020

    क्या पैसेवालों के बच्चों को ही मिलेगा ऑनलाइन शिक्षा का लाभ ?

    नागपुर– कोरोना (Covid -19) के संक्रमण के चलते स्कूल कॉलेज बंद है, जिसके चलते राज्य सरकार की ओर से ऑनलाइन शिक्षा (Online Education) की घोषणा की गई थी, लेकिन इसका लाभ केवल निजी स्कूल्स (Private Schools) के पैसेवाले विद्यार्थी ही उठा पा रहे है, मनपा के सरकारी स्कूल्स (Nmc Schools) के विद्यार्थियों की हालत काफी खराब है. इस समय यह भी देखने मे आ रहा है कि शिक्षा पर अब केवल पैसेवाले अमीर बच्चों का ही अधिकार है, और सभी के लिए शिक्षा (Education) का केवल दिखावा किया जा रहा है. शहर की बड़ी बड़ी निजी स्कूल्स (Private Schools) ने कुछ महीने पहले ही ऑनलाइन पढ़ाई (Online Education) शुरू कर दी थी, यह बच्चे सम्पन्न परिवारों से है, इनके पास महंगे मोबाइल फ़ोन ,लैपटॉप जैसे साधन भी उपलब्ध है, लेकिन मनपा स्कुलो का इतिहास रहा है कि यहाँपर ज्यादातर विद्यार्थी झुग्गी झोपड़पट्टियों से आते है, जिनके माता -पिता मजदूरी या फिर अन्य छोटे मोटे काम कर अपने परिवार का गुजारा करते है,ऐसे में इनके बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा( Online Education)का किसी भी तरह का लाभ नही मिल पा रहा है, और इनके माता-पिता अपने बच्चों को इतने महंगे -महंगे मोबाइल दिलाने में असमर्थ है, शहर की ज्यादातर मनपा स्कुलो में इसी तरीके से ऑनलाईन शिक्षा (Online Education) के नाम से विद्यार्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है.

    मनपा में पढ़ रहे कुछ अभिभावकों का कहना है कि मोबाइल के माध्यम से ऑनलाइन पढ़ाई हमारे बस की बात नही है, इसलिए बच्चे पढ़ाई ही नही कर पा रहे है. महंगे मोबाइल हम खरीद नही सकते, अगर महंगे मोबाइल खरीदने की स्थिति होती तो बच्चों को मनपा स्कूलों में क्यो भेजते.

    इन महीनों में ऑनलाइन शिक्षा (Online Education) के तमाशे को देखकर यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि आनेवाले दिनों में शिक्षा केवल अमीर पैसेवाले बच्चें ही कर पाएंगे और निजी स्कूलों ( Private Schools) में ही पढ़ाई हो सकेगी, गरीब विद्यार्थियों को आनेवाले दिनों में पढ़ाई से वंचित होना पड़ सकता है, वैसे ही मनपा स्कुलो (Nmc Schools) में विद्यार्थियो की संख्या कम है, अब ऐसे में हजारों विद्यार्थी स्कूल छोड़ सकते है. राज्य सरकार की ओर से घोषणा तो कर दी जाती है, लेकिन सरकार की ओर से यह नही देखा जाता कि मनपा की स्कूलों में सुविधाएं कितनी है,इसलिए इस ऑनलाइन शिक्षा (Online Education) का लाभ मनपा में पढ़नेवाले गरीब विद्यार्थियों को नही मिल पा रहा है.

    मनपा के एक शिक्षक की जानकारी के अनुसार केवल 10 प्रतिशत विद्यार्थी ही ऑनलाइन शिक्षा (Online Education) का लाभ ले रहे है.बाकी विद्यार्थी इस शिक्षा से वंचित है.

    इस बारे में आरटीई (Rte) एक्शन कमेटी के चेयरमैन मो.शाहिद शरीफ (Shahid Sharif) ने कहा कि ऑनलाइन शिक्षा (Online Education) का लाभ मनपा स्कुलो में पढ़नेवाले बच्चों को नही मिल रहा है. सरकार की ओर से इस साल को इन बच्चों के लिए 0 वर्ष (0 Year) घोषित करना चाहिए, जिससे कि इस साल की गिनती नही होगी, और इनका साल खराब नही होगा.

    इस बारे में मनपा की शिक्षणाधिकारी (Nmc Education Officer) प्रीति मिश्रीकोटकर से बात की गई तो उन्होंने केवल इतनी जानकारी दी कि मनपा की स्कुलो में ऑनलाइन पढ़ाई हो रही है, कितने स्कूलों में, कितने शिक्षकों के साथ यह जानकारी देना उन्होंने जरूरी नही समझा.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145