Published On : Sat, Nov 24th, 2018

जब मैं कुछ नहीं था मेरे टैलेंट को पहचानने का काम पत्रकार ने किया : वीवीएस लक्ष्मण

एसजेएएन- रायसोनी अचीवर्स एनुअल अवार्ड में की शिरकत, नागपुर के खिलाड़ियों को किया सम्मानित, बढ़ाया हौसला

नागपुर: आज में क्रिकेटर हूँ, लेकिन जब मैं कुछ नहीं था तब मेरे टैलेंट को पहचानने का काम पत्रकार ने किया. यह बयान पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने अपने नागपुर दौरे के दौरान दिया. एसजेएएन- रायसोनी अचीवर्स एनुअल अवार्ड फंक्शन का आयोजन सिविल लाइन्स स्थित नागपुर प्रेस क्लब कन्वेंशन सेंटर में किया गया. जिसमें प्रमुख अतिथि के तौर पर वे बोल रहे थे.

इस दौरान लक्ष्मण ने खो-खो खेल के लिए कांग्रेस नगर की न्यू इंग्लिश हाईस्कूल, ज्योतिबा कॉलेज ऑफ़ फिसिकल एज्युकेशन, फुटबॉल को प्रोत्साहन देने के लिए यंग मुस्लिम फुटबॉल क्लब के अध्यक्ष कामिल अंसारी को पुरस्कार से सम्मानित किया. तो वहीं सर्वश्रेष्ठ फीमेल का पुरस्कार धावक ऋतुजा शेंडे को दिया. जिसने हाल ही में गोल्ड मेडल जीता था. बेस्ट जूनियर स्पोर्ट्समेन बैट्समेन अथर्व तायडे, बेस्ट सीनियर स्पोर्ट्समेन बैडमिंटन में वैष्णवी भाले, और बेस्ट सीनियर स्पोर्ट्समेन

में भारत ए के रजनीश गुरबानी को सम्मानित किया गया.

उन्होंने बताया कि उनके चाचा ने उन्हें समर कैम्प भेजा था. उन्होंने सच्चे तरीके से उनके क्रिकेट टैलेंट को समझा. उनका कहना है कि उनके घर के सभी लोग डॉक्टर हैं. लेकिन उन्होंने अपना कैरियर क्रिकेट में बनाया. उन्होंने अपनी किताब पर कहा कि इसमें उनके बचपन से लेकर क्रिकेट से रिटायरमेंट तक का सफर दिया हुआ है. उन्होंने बच्चों पर बात करते हुए कहा कि बच्चों को परीक्षा के परिणाम को लेकर परिजन उन्हें टेंशन न दें. उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद क्रिकेट खिलाड़ी वसीम जाफर की भी प्रशंसा की जो युवा खिलाड़ियों को मदद कर रहे हैं.

इस दौरान मंच पर मौजूद अरुण लखानी ने कहा कि हर साल इस एसोसिएशन में सुधार देखने को मिल रहा है. इस संस्था के सदस्य पत्रकारिता के साथ खेलों को लेकर भी उत्साहित है. उन्होंने इसके आयोजन के लिए सभी पत्रकारों को बधाई भी दी. अनिल सोले ने इस दौरान कहा कि यह संस्था पिछले 20 वर्षों से ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन कर रही है. उन्होने बताया कि लक्ष्मण की किताब में उन्होंने पढ़ा कि टर्निंग पॉइंट का जिंदगी में अहम् योगदान होता है. कार्यक्रम में मौजूद विधायक समीर मेघे ने भी मौजूद खिलाड़ियों को प्रोत्साहन दिया. उन्होंने कहा कि खिलाड़ीयों को कॉन्ट्रोवर्सी से दूर रहना चाहिए. उन्होंने एसोसिएशन से मजाकिया अंदाज में क्रिकेट में खे

लने देने की भी गुजारिश की.