Published On : Mon, Sep 14th, 2020

वाडी नगरपरिषद व ग्रामीण क्षेत्र मे करोना बाधितो की संख्या पहूंची 500 के पार,13 नागरिको की मृत्यू

नागपूर मे आकस्मिक बेड उपचार हेतू उपलब्धता नियोजन की मांग

वाडी( सं) वाडी नगरपरिषद सह डिफेन्स,आठवा मैल व ग्रामीण क्षेत्र मे करोना का प्रभाव बढता ही जा रहा हैं.वाडी क्षेत्र व डिफेन्स,लावा ,आठवा मैल आदी क्षेत्र मे अब करोना पॉझिटिव्ह रुग्ण की संख्या 500 को पार करणे से नागरिको के साथ नगरपरिषद प्रशासन,व्याहाड स्वास्थ विभाग मे भि चिंता का वातावरण निर्माण होना स्वाभावीक हैं.

वाडी नप का स्वास्थ विभाग मुख्याधिकारी जुम्मा प्यारेवाले के मार्गदर्शन मे करोना रुग्ण व उपचार हेतू प्रयासशील हैं.परन्तु बाधितो की संख्या व नागपूर मे उपचार हेतू तुरंत बेड उपलब्ध कराणे हेतू भारी मशकक्त करणी पड रही हैं.वाडी व संलग्नित क्षेत्रो मे अब बाधितो की मृत्यू संख्या 13 होणे से भि नागरिको मे भय युक्त वातावरण देखा जा रहा हैं.आठवा मैल निवासी पत्रकार व सामाजिक कार्यकर्ता सुनिल शेट्टी के बुधवार को हुये निधन पसच्यात वाडी के जेष्ट सामाजिक व राजकीय क्षेत्र के पदाधिकारी नागोराव गवली के निधन से भि क्षेत्र मे शोक निर्माण हुवा हैं. देखणे को मिली.

वर्तमान मे व्याहाड स्वास्थ केंद्र दवारा वाडी के जी प शाला मे संशयित करोना रुग्ण,आदी के लिये करोना स्वेब जांच कार्य जारी हैं. स्वास्थ निरीक्षक धनंजय गोतमारे व टीम यंहा उचित सहकार्य हेतू प्रतिदिन कार्यरत रहती हैं.इस केंद्र पर तहसील वैद्यकीय अधिकारी डॉ.सचिन हेमके के मार्गदर्शन मे मेडिकल ऑफिसर डॉ.सोनाली बाके , डॉ.सुषमा धुर्वे,डॉ.वैद्य,कर्मचारी मधुकर माकडे,अमोल शिंदे,प्रतीक्षा भैसारे,दीक्षा मेश्राम,शीतल रामटेके,वृंदा रंगारी ने अब तक 3500 से अधिक नागरिको की करोना स्वेब जांच की हैं.जीसमे 500 से अधिक नागरिक कोविद पॉझिटिव्ह पाये गये .उचित उपचार हेतू 130 करीब रुगणो को अब तक नागपूर शासकीय उपचार केंद्र मे रेफर किया गया.वर्तमान मे 221 बाधीत रुगणो को होम कोरिटाईन कर उन्हे उपचार दिये जा रहे हैं.अभी तक 80 प्रतिशत से अधिक रुग्ण की उपचार पसचयात घर वापसी हुई हैं.वर्तमान मे 130 बाधितो के घरो को सील किया गया हैं.तथा पुराने सील खोल दिये गये हैं.पर कुछ बाधीत नागरिको ने आक्षेप प्रस्तुत किया हैं की होम कोरणटाईन के बाद स्वास्थ कर्मचारी टीम समय पर घर पहूंच जांच कार्यवाही व दवाई वितरण मे विलंबा करने से दिक्कतो का सामना करणा पडता हैं.स्वास्थ विभाग को इस पर ध्यान देणा आवश्यक हैं.

इस संदर्भ मे शहर के जागरूक नागरिको से चर्चा करणे पर प्रतिक्रिया देते हुये बताया की सम्पर्क क्षेत्र बढणे से व लॉकडावून मे शिथिलता आने से नागरिक व्यवहार करणे हेतू बडी संख्या मे निकलने से करोना बाधितो की संख्या मे वृद्धी हुई हैं.नागपूर मे सुवीधा ओ की कमी व भारी समस्या व परेषानियो को देखते हुये प्रतिबन्ध हेतू नागरिक अधिक गंभीर बने नियमो का पालन कर सहकार्य की अब अत्यन्त आवशकता प्रतिपादित की गई.तथा शासन से मरिजो को लेकरं परिजन 4-4 घंटे रुग्णवाहिका मे असप्ताल मे बेड हेतू घुम रहे हैं.जीससे रुग्ण की मृत्यू होणे की संभावना बढ रही हैं.ओर नागरिक आक्रोशीत दिखाई दे रहे हैं.आकस्मिक मरिजो को बेड उपलब्ध हो ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करणे की मांग जागरूक नागरिको ने की हैं।