Published On : Fri, May 21st, 2021

सफल रहा अभायुकुस सक्रिय सदस्यों के साथ वर्चुअल “जनसंवाद” कार्यक्रम

पटना/नागपुर – गुरुवार को अखिल भारतीय युवा कुशवाहा समाज(भारत) द्वारा आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से महाराष्ट्र प्रदेश,हरियाणा प्रदेश, छत्तीसगढ़ प्रदेश, पंजाब प्रदेश, उड़ीसा प्रदेश,उत्तराखंड,तेलंगाना, उड़ीसा, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, गोवा, कर्नाटक,अंडमान निकोबार, लक्ष्यदीप,सिक्किम, असम,तमिलनाडु प्रदेश के नए सदस्यों एवं पदाधिकारियों का स्वागत समारोह संपन्न हुआ।

“जनसंवाद” कार्यक्रम की अध्यक्षता एवं संचालन संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नागमणि कुशवाहा ने संबोधित करते हुए कहा की हमारे समाज का इतिहास गौरवशाली रहा है। हमने अपने परिश्रम, ईमानदारी एवं त्याग से बड़े से बड़ा मुकाम हासिल किया है इसे पाने के लिए हम सभी को एकजुट होने की जरूरत है। हम सभी अपने आबादी के अनुकूल राजनीति भागीदारी को सुनिश्चित करें।तभी हम अखण्ड भारत का पुनः निर्माण कर सकेंगे।श्री कुशवाहा ने कहा कि संगठन के द्वारा चलाये जा रहे कार्यक्रम कार्यशाला पर परिचर्चा के बारे में विस्तृत जानकारी दिये।

इस कार्यशाला में मुख्य विषय राजनीति, शिक्षा, रोजगार ,स्वास्थ्य,पर्यावरण बचाओ अभियान, समाज में व्याप्त दहेज प्रथा को समाप्त किया जाये तथा एकता एवं संगठन का विस्तार करना,बल्ड बैंक शिविर आदि पर आप सभी देश के प्रत्येक गॉव में परिचर्चा करें तभी मौर्य वंश की पुनः स्थापना होगा। बिहार प्रदेश अध्यक्ष हरिओम कुशवाहा ने नौजवानों का आह्वान करते हुए कहा की समाज के युवाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए समाज को एक मंच पर संगठित होकर आना होगा तभी समाज का युवा आर्थिक रूप से मजबूत होगा कुशवाहा समाज के लोग कृषि पर निर्भर है उन्हें आत्मनिर्भर बनने के लिए आर्थिक रूप से मजबूत होने के लिए व्यवसायिक कृषि ,लघु उद्योग ,कुटीर उद्योग को अपनाना होगा तभी समाज आर्थिक रूप से मजबूत होगा।

राष्ट्रीय महासचिव जितेंद्र कुशवाहा ने कहा है कि शिक्षा से ही चौमुखी विकास संभव है हमे अपनी भागीदारी आबादी के अनुकूल होना चाहिए चाहे वह राजनीति के क्षेत्र में हो, चाहे वह शिक्षा के क्षेत्र में ,स्वास्थ्य के क्षेत्र में हो या रोजगार के क्षेत्र में हो देश के आजादी के 73 साल होने के बाद भी आज तक कुशवाहा समाज संगठित नहीं हुआ जबकि इतिहास गवाह है सम्राट अशोक ने जो अखंड भारत का निर्माण किया था उसको कुछ समाज के जयचंदों ने मिलकर आजादी के बाद समाज को खंड खंड कर दिया इसलिए समाज के युवाओं को संगठित होना चाहिए क्योंकि वह समाज की नींव है समाज की जिम्मेवारी अब युवाओं के कंधों पर हैं इसलिए अधिक से अधिक युवा अपनी सामाजिक, राजनीति भागीदारी को समझे और पंचायत स्तर, प्रखंड स्तर, जिला स्तर, प्रदेश स्तर एवं राष्ट्रीय स्तर पर आबादी के अनुकूल अपनी भागीदारी को सुनिश्चित करें।राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कैप्टन चंदन कुशवाहा ने कहा कि समाज को एकजुट करने की जरुरत है। तभी मौर्य वंश फिर से अपनी विरासत को पुनः प्राप्त कर पायेगा|

प्रदेश उपाध्यक्ष गणेश शंकर कुशवाहा ने कहा कि किसी समाज की उन्नति के लिए प्रत्येक व्यक्ति का योगदान जरूरी है।साथ ही संगठन से जुड़ने के लिये वेबसाइट www.abyks.org टोल फ्री मिस्ड कॉल नंबर 9958036006 की जानकारी दिए।

इस अवसर पर ललन मेहता,धीरू सिंह कुशवाहा,संदीप कुमार मौर्य ,गोपाल मेहता,अनिल सिंह,अनिष्का कुमारी,बसन्त सिंह,पूजा प्रसाद,दिलीप कुमार सिंह,जितेंद्र कुमार, कृष्णा प्रसाद,कुशवाहा राहुल,एस. एन. प्रसाद,सुजीत सिंह, सतीश सिंह,संतोष कुमार,रामचंद्र प्रसाद सिंह,एस. एन. मौर्या,सुरेंद्र कुमार,डॉ प्रकाश माली ,अजय कुमार,समेत कई सम्मानित सदस्यों एवं पदाधिकारियों ने अपने अपने विचार दिए। – राजीव रंजन कुशवाहा,नागपुर(rajeev.nagpurtoday@gmail.com)