Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sun, Dec 8th, 2019

    परिंदा भी पर नहीं मार सकेगा, शीतसत्र के दौरान सिविल लाइन्स में कड़ा बंदोबस्त

    नागपुर. राज्य में नई सरकार के गठन के बाद विधानमंडल के शीतकालीन अधिवेशन की तैयारी में तेजी आ गई है. महाराष्ट्र महाविकास आघाड़ी का पहला शीतकालीन अधिवेशन 16 दिसंबर से आरेंज सिटी में होने जा रहा है. पुलिस आयुक्त डा. भूषणकुमार उपाध्याय ने शनिवार को विधानभवन और आसपास के परिसर का जायजा लिया. ‘नवभारत’ से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि शीतसत्र के दौरान परिसर में इस प्रकार का बंदोबस्त किया जा रहा है कि यहां परिंदा भी पर नहीं मार सकेगा. वहीं 8 दिनों में बाद शुरू होने वाले अधिवेशन को ध्यान में रखते हुए प्रशासन अधूरे कामों को तेजी से निपटाने में जुट गया है. विधानभवन, देवगिरी, रविभवन, नागभवन, एमएलए होस्टेल, इन सभी ठिकानों पर सादे गणवेश में खुफिया जवान भी तैनात किये जाएंगे, जो कि नियमित बंदोबस्त के अलावा हर एक गतिविधि पर नजर रखेंगे.

    लॉ एंड आर्डर और ट्राफिक की समीक्षा
    शनिवार को पुलिस आयुक्त डा. उपाध्याय ने पुलिस उपायुक्त रवींद्र कदम, डीआईजी महावर्कर, डीसीपी चिन्मय पंडित, जोन 2 डीसीपी विनिता साहू, डीसीपी श्वेता खेड़कर, एसीपी जयेश भांडारकर, पीआई अतुल सबनीस, पीआई राजपूत और पीआई बन्सोडे के साथ परिसर का जायजा लिया. इस दौरान विधानभवन परिसर में पार्किंग, ट्राफिक और सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की गई. लॉ एंड आर्डर और ट्राफिक के साथ-साथ उन्होंने परिसर में बंदोबस्त, स्टाफ के खान-पान का नियोजन किया. शीतसत्र अधिवेशन के दौरान नागरिकों को यातायात में किसी भी प्रकार की परेशानी न हो, इस पर ध्यान दिया गया. हर एक चौराहे पर पुलिस का तगड़ा बंदोबस्त रहेगा.

    अंदर पार्क नहीं होंगी गाड़ियां
    शीतसत्र के दौरान वहां आने वाले वीआईपी वाहनों को परिसर के अंदर पार्क नहीं किया जाएगा. सुरक्षा और वीआईपी मूवमेंट को ध्यान में रखते हुए किसी भी वाहन को परिसर के अंदर पार्क नहीं किया जाएगा. नेता व अधिकारियों को परिसर के अंदर विधानभवन के गेट के पास छोड़कर गाड़ियां दूसरे मार्ग से बाहर निकल जाएंगी. इसके साथ ही सत्र पूरा होने तक मीठानीम दरगाह के पास की फूलों की दूकानों को हटाया जाएगा. 16 दिसंबर से सिटी में शीतसत्र की शुरुआत हो रही है. इस वर्ष यह सत्र केवल 5 दिनों तक चलने वाला है. सत्र के शुरू होने में केवल 8 दिन बाकी है, इसे ध्यान में रखते हुए अब जल्द ही सचिवालय शुरू होने की संभावना है.

    केपी का पर्याय होगा उर्सुला मैदान
    कस्तूरचंद पार्क के सौंदयीकरण का कार्य जारी है. वहीं इस कार्य के दौरान खुदाई के समय कई ऐतिहासिक तोपें निकल रही हैं. पुरातत्व विभाग को पार्क में और भी तोपें मिलने की संभावना होने के कारण पूरे परिसर की खुदाई की जा रही है. शीतसत्र के दौरान वहां आने वाले वाहनों को कस्तूरचंद पार्क में पार्क किया जाता था, लेकिन वर्तमान में पार्क के सौंदर्यीकरण का कार्य जारी होने के कारण पार्किंग की पर्यायी व्यवस्था आकाशवाणी चौक से वीसीए स्टेडियम के बीच स्थित सेंट उर्सुला मैदान में की गई है. सभी वीआईपी वाहनों को सेंट उर्सुला मैदान में पार्क किया जाएगा. इस दौरान इस मार्ग पर ट्राफिक पुलिस का भी बंदोबस्त लगा रहेगा.

    अतिक्रमण का होगा सफाया
    पूरे सत्र के दौरान सिविल लाइन्स परिसर में फुटपाथ व सड़कों पर जितने भी हाकर्स व टपरियां हैं, उन सभी पर जल्दी कार्रवाई कर सत्र शुरू होने से पहले हटाया जाएगा. वहीं कंट्रोल रूम के आसपास में हाकर्स घूमते रहते हैं. हाकर्स की आड़ में कई तरह के संदिग्ध लोग परिसर में उधम मचाते रहते हैं. ऐसे बदमाशों की सूची तैयार कर पुलिस प्रशासन जल्द ही उनकी धरपकड़ करने वाली है. वहीं मनपा का निर्मूलन दस्ता भी फुटपाथ से अतिक्रमण हटाने की तैयारी में जुट चुका है. इसके साथ ही परिसर की स्वच्छता पर विशेष रूप से ध्यान दिया जा रहा है. सिविल लाइन परिसर में कहीं भी कचरे का अंबार न दिखे, इसके लिए मनपा ने सफाई कर्मचारियों को सचेत कर दिया है. वहीं परिसर के विभिन्न स्थानों पर कचरा पेटी लगाई जाएगी.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145