Published On : Sat, Nov 11th, 2017

Video: विवाद छुड़ाने गए पुलिस अधिकारी पर जानलेवा हमला

नागपुर: चिकन विक्रेता के बीच हो रहे को विवाद को सुलझाने की कोशिश करना एक पुलिस उपनिरीक्षक पर तब भार पड़ गया जब चिकिन विक्रता के साथ उसके अन्य करीब 20 साथियों ने हमला कर उसे बुरी तरह घायल कर दिया। पुलिस अधिकारी पर यह हमला लकड़ियों और पाइप से किया गया। खुद पर हुए हमले को भारी पड़ता देख पुलिस अधिकारी परिसर से जान बचाकर भाग निकलने में कामयाब रहा, वरना किए गए हमले से उसका बच निकल पाना मुश्किल बताया जा रहा है। घायल पुलिस उपनिरीक्षक का नाम भावेश कावरे बताया जा रहा है। इस मामले में हुडकेश्वर पुलिस थाने ने सरकारी कामकाज में बाधा निर्माण करने के साथ पुलिस कर्मचारी के साथ मारपीट करने के आरोपों के तहत मामला दर्ज किया है।

यह घटना शनिवार दोपहर 12 बजे की है। घटना को लेकर पुलिस कर्मचारियों में भी दहशत का माहौल है। इस अवैध चिकिन विक्रेता पर अब पुलिस क्या कार्रवाई करती है इस पर सबकी निगाहें लगी हुई हैं। इससे पहले भी इस चिकन सेंटर की जगह को लेकर एक विक्रेता पर गोलीबारी हो चुकी है। इस मामले में भी पुलिस के हात्थे अब तक आरोपी नहीं लग पाया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कावरे शनिवार दोपहर को जब इंडियन ब्रायलर चिकन सेंटर के सामने से गुजर रहे थे, तब उन्हें चिकिन सेंटर में चार लोग एक दूसरे से हाथापाई करते नजर आए। यह देख कावरे बीच बचाव करने रुक गए। इस दौरान अन्य चिकन सेंटरवाले भी वहां पहुंच गए। इस बीच चिकिनवालों के समूह ने, ‘इस पुलिस वाले को छोड़ो मत, बहुत हफ्ता लेता है, इसका आज कांड ही कर डालो’ कहते हुए कावरे पर पाइप व लकड़ियों से वार करना शुरू कर दिया। खुद पर हमलावरों को भारी पड़ता देख कावरे वहां से जान बचाकर जैसे तैसे निकलने में कामयाब रहे और सीधे पुलिस थाने पहुंचे।

पुलिस पर हमला हुआ देख पुलिस का बड़ा ताफा घटना स्थल पर पहुंच गया। जहां पुलिस ने सईद उर्फ शाहीद, बॉबी व अन्य एक आरोपी को गिरफ्तार किया। अन्य साथियों की तलाश पुलिस कर रही है। बताया जाता है कि पुलिस अधिकारियों द्वारा वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को योग्य जानकारी ना देने से इन दुकानदारों का मनोबल बढ़ गया है। फुटपाथ पर दुकान लगाने के लिए पुलिस कर्मचारियों और दुकानदारों के बीच सांठगांठ होने की भी चर्चा है। जिससे इन दुकानदारों के हौसले बुलंद होते चले गए। नागरिकों का कहना है कि इन अतिक्रमणकारियों को अगर जल्द नहीं हटाया गया तो यहां किसी भी दिन बहुत बड़ी वारदात हो जाएगी।