Published On : Mon, Sep 30th, 2019

किसानो के लिए सिंचन व्यवस्था, महिला और युवाओ को दिया रोजगार – विधायक सुनील केदार

नागपुर: किसानों के खेतो में पानी पहुंचे, इसके लिए गांव गांव में बंधारे बनाएं गए है. पिछले वर्ष केंद्र सरकार ने कलमेश्वर तहसील को सूखा घोषित करने के बाद भी कलमेश्वर परिसर में पिने के पानी के लिए टैंकर नहीं लगाने की जरुरत पड़ी. कलमेश्वर, सावनेर का स्पोर्ट्स कॉम्लेक्स भी बनाया है. कलमेश्वर में और सावनेर में लड़कियों के लिए हॉस्टल और बेरोजगार युवको के लिए कारखाने बंद न हो इसका पूरा ध्यान रखा गया है. डब्ल्यूसीएल में स्थानीय लोगो को ही काम देने पर बल दिया गया और गुमगांव स्थित मैंगनीज़ माइंस का आधुनिकीरण और विस्तारीकरण का कार्य भी चल रहा है. चीन की कंपनी को यह कार्य दिया गया है और यहाँ पर भी 700 से 800 युवको को काम मिलेगा. यह जानकारी सावनेर विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस विधायक सुनील केदार ने दी. वे ‘नागपुर टुडे ‘ से अपने क्षेत्र के बारे में चर्चा कर रहे थे. उन्होंने बताया कि महिलाओ को काम देने के लिए भी प्रयास किया गया है. महिला बचत गट के माध्यम से मदद की गई है. इसके अलावा व्यक्तिगत तौर पर भी महिलाओ को आर्थिक मदद दी गई है. महिलाओ को मदद देकर सक्षम किया जा रहा है. आनेवाले दिनों में महिलाओ को और ज्यादा सक्षम बनाने के लिए लिज्जत पापड और मसाले और कपडे सिलाई की भी फ्रंचायसी लेने पर भी विचार किया जा रहा है. मराठी स्कुल बंद होने पर उन्होंने कहा की मराठी स्कुलो को आगे बढ़ाने के लिए भी प्रोत्साहन दिया जा रहा है. क्षेत्र की जिला परिषद् की स्कूलों को डिजिटल बनाने की शुरुवात की गई है. डिजिटल बनाने के लिए प्रोजेक्टर्स और इसकी सामग्री दी जा रही है. क्षेत्र के कई गांवों की स्कूलों में सुविधाएं दी गई है.

पढ़ने के लिए लाइब्रेरी बनाई गई है. सावनेर में भी लाइब्रेरी बनाई गई है. विद्यार्थियों को पढ़ाई के लिए किताबे भी दी जाती है. स्पर्धा परीक्षा में सहभागी होनेवाले विद्यार्थियों की मदद के लिए भी मोहपा की तर्ज पर कलमेश्वर में नगरपरिषद की बाजू की पुरानी इमारत में अत्याधुनिक लाइब्रेरी जेएसडब्ल्यू की आर्थिक मदद लेकर बनाई जाएगी. पाटणसावंगी गांव में युवाओ और विद्यार्थियों को देश विदेश की जानकारी मिले. इसके लिए गांव में वायफाय फ्री किया गया है. इसका लाभ विद्यार्थी उठा रहे है. इसके साथ ही अन्य कामों का भी उन्होंने ब्यौरा दिया.