Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Wed, Aug 1st, 2018
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    नये सीपी के एक हाथ में डंडा, एक में प्यार..आपको क्या चाहिये बोलो मेरे यार…..

    नागपुर: शहर में नवनियुक्त पुलिस आयुक्त भूषण कुमार उपाध्याय नें कार्यभार संभाल लिया है. पुलिस आयुक्त कार्यालय में आज सुबह लगभग 11 बजे नागपुर से निवृतमान सीपी डॉ. के वेंकटेशम नें संचार माध्यमों के प्रतिनिधियों से अनौपचारिक बातचीत के दौरान अपने 23 माह के कार्यकाल के सकारात्मक सहयोग के लिये धन्यवाद दिया. इस दौरान संयुक्तपुलिस आयुक्त शिवाजी बोडखे ने भी अपनी ओर से सभी का आभार माना. डॉ. के वेंकटेशम ने विभिन्न पत्र प्रतिनिधियों के प्रश्न का सहज उत्तर देते हुए अपने कार्यकाल के दौरान हुए कार्यों की समीक्षात्मक टिप्पणी भी की.

    इधर नवागत पुलिस आयुक्त डा. भूषण कुमार उपाध्याय ने कार्यभार ग्रहण करते ही स्पष्ट कर दिया कि वे नई टेक्नोलॉजी में विश्वास तो करते हैं परन्तु मैदानी (ग्राउंड) पुलिसिंग में उनका विश्वास गहरा है. इसलिए आगामी दिनों में नागपुर पुलिसिंग का चेहरा सड़कों पर दिखाई देने वाला है. डॉ.उपाध्याय ने नागपुर में पुलिस के नए रुख का संकेत देते हुए कहा कि हमारी पुलिस के एक हाथ में डंडा और एक हाथ में प्यार, आपको क्या चाहिये बोलो मेरे यार.

    उन्होंने नए सीपी पहले नागपुर ट्राफिक पुलिस के डीसीपी, अपर पुलिस आयुक्त क्राईम तथा ग्रामीण पुलिस अधीक्षक के रूप में बरसों तक नागपुर में अपनी सेवायें दे चुके हैं. इसलिये वे नागपुर में होने वाली आपराधिक घटनाओं की प्रवृत्तियों से भली भांति परिचित हैं. इसलिये आगामी दिनों में वे अपराधों के नियंत्रण और नागरिकों के मन में पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ाने वाली पुलिसिंग पर जोर देने वाले हैं. अपराध नियंत्रण के लिए वे एनजीओ और स्वयंसेवी संस्थाओं के सुझावों, सहयोगात्मक कार्रवाईयों और नागरिकों से मिलने वाली सूचनाओं पर प्रभावी रूप से कामकाज करायेंगे.

    डा. भूषण कुमार उपाध्याय ने संचार माध्यमों के प्रतिनिधियों से चर्चा के दौरान स्पष्ट किया कि वे नागपुर में पुलिस का एक बेहद संवेदनशील चेहरा निखारेंगे जिससे जनता में पुलिस के प्रति विश्वास और सम्मान बढ़े. वे मानते हैं कि ट्राफिक व्यवस्था बनानें के दौरान नागरिकों के साथ अनुचित व्यवहार नहीं किया जाना चाहिए. लेकिन नियम- कायदे भी न टूटें और लोग कानून का पालन करें तो पुलिस का व्यवहार हमेशा सकारात्मक ही रहेगा. बीते सालों में नागपुर में आपराधिक घटनाओं में आर्थिक अपराधों की संख्या बढ़ी.

    सायबर अपराधों में भी बढ़त दर्ज हो रही है तथा स्ट्रीट क्रईम बढ़ने की घटनाओं पर उनकी बिशेष नजर रहेगी. उन्होंने बताया कि निरीक्षक स्तर के पुलिस अधिकारी के अलावा अन्य सभी पुलिस अधिकारी जब ग्राउंड पर पैदल दिखाई देते हैं तो अपराधियों में भय और नागरिकों को सुरक्षा का बोध होता है. नागपुर में नियमित रूप से अपराध करने वाले तमाम अपराधियों पर मोका के अलावा “ मुक्का ”लगाने में कोई हिचक नहीं दिखाई जाएगी.

    जेल प्रशासन में अधिकारी के रूप में अपने अनुभवों का जिक्र करते हुए उन्होंने माना कि बहुत सारे युवा अपराधियों को यदि सही रास्ता मिले तो वे अपराध करने की नियमित पृवृति से बच पाते हैं. समाज के प्रति पुलिसिंग की जबाबदेही के अतिरिक्त समाज में अपराधों की रोकथाम के लिए हरसंभव प्रयास किए जाएंगे. पुलिस के प्रति विश्वास बढ़े ऐसी पुलिसिंग पर जोर दिया जाएगा.


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145