Published On : Fri, Nov 21st, 2014

पवनी : सीएसआर अभियान के अंतर्गत पालतू जानवरों का स्वास्थ जांच शिविर संपन्न

CSR Camp
पवनी (भंडारा)। ग्रामीण क्षेत्र में किसानों के आर्थिक उत्पन्न में इजाफा होने के उद्देश्य से दुध उत्पादन एक महत्वपूर्ण व्यवसाय है. भंडारा जिला दुध उत्पादन में हमेशा आगे रहा है. जिससे शासन की ओर से अनेक शिविरों और कार्यक्रम का आयोजन किया गया है. इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर सीएसआर अभियान के अंतर्गत दुध देने वाले पालतू जानवरों का स्वास्थ जाँच शिविर 20 नवंबर को भंडारा में जर्सी डेयरी की ओर आयोजन किया गया था.

इस शिविर में जानवरों के लिए मुफ्त में दवाईयाँ बांटी गयी. दुध बढ़ाने के लिए मिनरल मिक्झर, जंतु की गोलियाँ, जानवरों को हुई बिमारी की दवाईयों का वितरण किया गया. जर्सी डेयरी का यह पहला अभियान है और इसके बाद हर माह शिविर का आयोजन कर सामाजिक उपक्रम के अंतर्गत किसानो को मार्गदर्शन और आरोग्य शिविर का आयोजन होगा ऐसा दुध संकलन अधिकारी मंगेश पौनिकर ने कहाँ.

जर्सी डेयरी का मुख्य उदेश्य है, दुध उत्पादन बढ़ाना और किसानों को मार्गदर्शन शिविर और कम खर्च में अधिक उत्पादन के साथ दुध उत्पादक को योग्य किमत मिले। कार्यक्रम के दौरान 25 किसानों को बक्षीस के तौर पर टप वितरित किया गया. कार्यक्रम में जनरल मॅनेजर उमापति, दुग्ध संकलन अधिकारी मंगेश पौनिकर, सहाय्यक तुषार हेड़ाऊ,पवनी के व्यवस्थापक खुशाल हटनागर ने शिविर में मार्गदर्शन और चिकित्सा की.

कार्यक्रम की सफलता के लिए राकेश वैद्य, प्रकाश पारधी, पराग वैद्य, गुलाब वैद्य, पांडुरंग बांगलकर, दिलीप वैद्य, देवदास गिरडकर ने प्रयास किया. कार्यक्रम का संचालन और आभार प्रदर्शन मिलिंद वैद्य ने किया.