Published On : Mon, May 7th, 2018

चुनाव तो अकेले ही लड़ेंगे: उद्धव ठाकरे

Uddhav Thackeray

मुंबई: शिवसेना के पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने एक बार फिर साफ कर दिया है कि चुनाव तो शिवसेना अकेले ही लड़ेगी। उन्होंने रविवार को नासिक में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि अब वह अलग चुनाव लड़ने के फैसले से पीछे नहीं हटेंगे।

उद्धव ने स्थानीय निकायों से भरी जाने वाली विधानपरिषद की 6 सीटों पर भाजपा के साथ किसी भी ताल-मेल से इनकार करते हुए कहा कि जिन तीन सीटों पर पार्टी चुनाव जीत सकती है, उन्हीं सीटों पर हमने अपने उम्मीदवार उतारे हैं। उन्होंने कहा कि हमने अपने कार्यकर्ताओं को यह निर्देश दिया है कि स्थानीय स्तर पर जो कुछ हो सकता है, वह किया जाए।

खडसे-भुजबल पर टिप्पणी नहीं
जब पत्रकारों ने उद्धव से एकनाथ खडसे को एसीबी से क्लीन चिट और छगन भुजबल को जमानत मिलने के बारे में प्रतिक्रिया मांगी, तो उन्होंने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। पालघर के दिवंगत भाजपा सांसद चिंतामण वनगा के परिवार के बारे में उद्धव ने कहा कि भाजपा में उनकी अनदेखी की गई, इसलिए हमने उन्हें शिवसेना में शामिल कर लिया। उन्होंने कहा कि अगर वनगा के परिवार में से कोई लोकसभा के लिए टिकट मांगेगा, तो शिवसेना उन्हें उम्मीदवारी देगी।

महाराष्ट्र एकीकरण समिति
कर्नाटक विधानसभा चुनाव के बारे में उद्धव ठाकरे ने कहा कि सीमा भाग यानी महाराष्ट्र और कर्नाटक की सीमा पर रहने वाले मराठी मतदाताओं को एकजुट होकर महाराष्ट्र एकीकरण समिति के उम्मीदवारों को जिताना चाहिए। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र एकीकरण समिति के समर्थन में शिवसेना इस क्षेत्र में अपने उम्मीदवार खड़े नहीं करेगी।