Published On : Sat, Aug 22nd, 2020

रिधोरा जाम प्रकल्प मे नौका पलट ने से दो युवकों का डुबकर मृत्यू


.

काटोल तहसीलके रिधोरा ग्राम के समिपस्थ जाम नदी मध्यम प्रकल्प है ।इस मघ्यम प्रकल्प से काटोल, कोंढाली,और काटोल एमआयडीसीको जलापुर्ती की जाती है ,साथही किसानोंको खेती के सिचाई के लिएभी जलापुर्ती कि जाती है. ।

यह प्रकल्प में अब सौ प्रतिशत जल भंडारण होने के बाद ओव्हर हो गया है। प्रकल्प तथा ओव्हर फ्लो का मन मोहक नजारा, नैसर्गिक सौंदर्य युवाओको आकर्षित करता रहा है।

हालही में किसानों तथा युवाओं ने बडा पोला और छोटा पोला हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस त्योहार के चलते नरखेड तहसील के 06-07युवक जाम प्रकल्प पर पहूंचे, यहां के प्रकल्प पर जाने के लिये प्रतिबंधात्मक साईन बोर्ड लगे है, फिर भी तुषार धोटे, शैलेष कोठे,अनिल नागमोते, अमोल कोठे, मयुय धोटे, राकेश खरपकर,तथा कुणाल धोटे आदी युवाओं द्वारा इस बोर्ड की अनदेखी कर तालाब में जल भंडारण क्षमता के बाहर खडी मछुआरों की छोटी नौका में बैठ कर नौक विहार के लिये राकेश खरपकर तथा कुणाल धोटे द्वारा मछूवारों की नौका चल पडे, नौका बीच तालाब में पहूंचते ही नौका में बैठे युवाओं का नौका पर का संतुलन बिगडा जिससे नौका पलट गयी, नौका पलटने से दो युवक डूब गये,

20अगस्त के शाम चार साढे चार बजे की घटना की जानकारी समिपस्थ ग्रामीणों मिली , स्थानिय पुलिस पटेल सुषमा मुसले, तथा पं स सदस्य संजय डांगोरे द्वारा इस घटना की जानकारी काटोल पुलिस स्टेशन में दी गयी , घटना की जानकारी मिलते ही थानेदार महादेव आचरेकर तथा काटोल के तहसीलदार अजय चरडे घटना स्थल पहूंकर तालाब में डूबे युवाओं की तैराकों के मदत से खोजबीन शुरू की गयी किंतू20अगस्त को दोनो के शव नही मिले।


बुलाया गया एन डी आर एफ का दल
जाम मध्यम प्रकल्प में नौका विहार के समय डूबे दोनों युवाओं के शव नही मिलने से सभी परेशान थे।
तब काटोल आपत्ति व्यवस्थापन के अध्यक्ष श्रीकांत उंम्बरकर एवं तहसीलदार अजय चरडे ने नागपुर से एन डी आर एफ के दल को बुलाया गया एड डी आर एफ के दल प्रमुख के नेतृत्व आये दल ने नौकाओं के सहारे21अगस्त को दिन भर खोजते रहे पर पानी में डूबे दोनों युवाओं का पता नही चल पया शाम होने से खोजबीन बंद करनी पडी । 22अगस्त के सुबह बारिश में ही पुन्हाः खोजबीन शुरू की तब दोपहर 01बजे के दरमियान कुणाल धोटे का शव तैरता नजर आया उसे तालाब के बाहर निकलने के बाद जांच पुन्हाः दुसरे के खोजबीन मे लग गया। शाम पांच बजे के दरमियान राकेश खरपकर का शव को बाहर निकाला गया ।

प्राप्त जानकारी नुसार नरखेड तहसीलके ६ युवक मौजमस्ती करने जाम प्रकल्पपर 20अगस्त को दोपहर २ बजे गये थे उनमेसे राकेश वसंतराव खरपकर (भिष्णुर), कुणाल विलासराव धोटे (खुशालपुर), इन दो युवकोने मछुआरोकी नौका निकालकर पाणीमे प्रवेश किया कुछही दुरीपर जानेपर नाव पलटी और दोनो युवक तैरना नही आया इसमे दोनो युवक पाणीमे डुबे। यह दोनो युवक किसी निजी कंपनीमे अच्छी पदस्थ थे।