Published On : Tue, Sep 12th, 2017

दो वर्ष बाद भी नहीं हो पाए प्रशासनीक मंडल के चुनाव-नागपुर विश्वविद्यालय में 100 लोगों के काम का बोझ 15 लोग पर

नागपुर- विश्वविद्यालय के कार्यभार की जिम्मेदारी संभाल रहा प्रशासनीक मंडल विगत दो वर्ष पूर्व बर्खास्त हो चुका है. बावजूद इसके अभी तक चुनाव प्रक्रिया के अभाव में सदस्यों की नियुक्ति का मामला अधर में लटका हुआ है.

याद रहे कि, महाराष्ट्र विश्वविद्यालय अधिनियम के तहत मंडल की स्थापना 5 वर्ष के लिए की जाती है. जिसके बाद हर पांच साल बाद चुनाव प्रक्रिया लेते हुए मंडल में सदस्यों की नियुक्ति व फेरबदल होते रहते हैं. दो वर्ष पूर्व अगस्त 2015 में नागपुर विश्वविद्यालय के सभी प्रशासनिक कार्यकारिणी बर्खास्त हो चुकी है.

जिसके बाद से अभी तक चुनाव प्रक्रिया नहीं होने से 100 लोगों का कार्यभार 15 लोगों के भरोसे चल रहा है. सीनेट, एकेडमिक काउंसलिंग व मैनेजमेंट काउंसलिंग के संबंधित सभी कार्य प्रभावित हो रहे हैं. हालांकि सुचारु रूप से सभी कार्यप्रणाली चलते रहने की जानकारी कुलगुरु ने दी है.

राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय के कुलगुरु डॉ. सिद्धार्थ विनायक काणे ने बताया कि प्रशासनीक मंडल की नियुक्ति को लेकर प्रक्रिया जारी है. जिसे दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा. 100 लोगों का कार्य 15 के भरोसे चल रहा है. लेकिन किसी भी तरह से कार्य प्रभावित नहीं हुआ है.