Published On : Sun, Mar 1st, 2020

वेकोलि में वैश्विक उद्योग 4.0 पर दो दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न

वेस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (वेकोलि) और मैंगो ब्लू, ऑस्ट्रेलिया के सयुंक्त तत्वावधान में “टेकिंग द लीप (Taking The Leap)” विषय पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में “क्रिएटिंग फ्यूचर रेडी पीपल एंड आर्गेनाईजेशनस (Creating Future ready People & Organisations)” थीम पर मुख्य रूप से जोर दिया गया।

कार्यशाला के समापन समारोह में वेकोलि के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक श्री राजीव रंजन मिश्र मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। उन्होंने विश्व में हो रहे औद्योगिक बदलावों पर प्रकाश डाला और कहा कि देश में बढ़ती ऊर्जा जरूरतों के अनुरूप कोयला उद्योग और कोल इंडिया की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने अपनी तरह की इस अनोखी कार्यशाला के लिए निदेशक (कार्मिक) डॉ. संजय कुमार के नेतृत्व में आयोजक टीम की प्रशंसा की।

मैंगो ब्लू, ऑस्ट्रेलिया की फाउंडर श्रीमती सैंड्रा वाल्डेन पीयर्सन ने उदाहरण देते हुए बताया कि उद्योग 4.0 (Industry 4.0) का लोग, व्यवसाय और समाज पर क्या प्रभाव है, और कैसे इससे व्यावसायिक सफलता हासिल की जा सकती है। उन्होंने कहा कि इंडस्ट्री 4.0 का मतलब है-स्मार्ट इंडस्ट्री।


चौथी औद्योगिक क्रांति का हिस्सा बनने के लिए ऊर्जा, उत्पादन, आटोमेशन, डाटा केंद्रित वातावरण में बदलाव लाने होंगे। उन्होंने बताया कि जिस उत्पादन को महीनों में परंपरागत तरीके से किया जाता था, वह आज चंद घंटों में अत्याधुनिक तकनीक के माध्यम से किया जाने लगा है। आज मानव की जीवन शैली स्मार्ट हो चुकी है। स्मार्ट टेक्नोलाजी ने सब कुछ सरल कर दिया है। जीवन के हर क्षेत्र में लगातार नये अविष्कार हो रहे हैं। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस ने सभी क्षेत्रों में क्रांति ला दी है।

कार्यशाला में निदेशक (कार्मिक) डॉ. संजय कुमार ने चौथी औद्योगिक क्रांति (Industry 4.0) के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को चौथी औद्योगिक क्रांति के उन पहलुओं को बताया, जिससे मानव जीवन का सीधे-सीधे संबंध है। उन्होंने सरल उदाहरणों के माध्यम से प्रतिभागियों का मार्गदर्शन किया।

इस अवसर पर मुख्य सतर्कता अधिकारी श्री अमित कुमार श्रीवास्तव विशेष रूप से उपस्थित रहे। कार्यशाला का संचालन श्रीमती ऋतु सिंह, उप प्रबंधक (मासंवि) और श्री शेखर रायप्रोलू, सहायक प्रबंधक (सीडी) ने किया। कार्यशाला में कोल इंडिया की अनुषंगी कंपनियों, वेकोलि मुख्यालय और सभी क्षेत्रों के अधिकारियों ने बड़ी संख्या में भाग लिया।