| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Mon, Oct 26th, 2020
    Featured | By Nagpur Today Nagpur News

    फिस्टुला का सबसे अच्छा इलाज कहाँ से पाए

    भगवान ने हमारे शरीर की संरचना बड़े ही अनोखे ढंग से की है। जब हमारे प्राकृतिक शरीर के साथ कोई अप्राकृतिक काम होता है तो वह शरीर के लिए बड़ी समस्या हो जाती है। फिस्टुला भी गुदा मार्ग के आस-पास होने वाला एक अप्राकृतिक सुरंग है जो किसी दो अंग या दो नसों के जोड़ के कारण उत्पन्न होता है। फिस्टुला रोगी को मलत्याग के दौरान दर्दनाक परिस्थिति से नियमित रूप से गुजरना पड़ता है।

    फिस्टुला होने पर गुदा क्षेत्र में मवाद और खून की स्थिति बनी रहती है। अगर स्थिति सामान्य न हुई तो इससे इन्फेक्शन हो सकता है जिसके कारण गुदा क्षेत्र में फोड़े आ जाते हैं और जीना दुश्वार हो जाता है।

    फिस्टुला का सफल इलाज सिर्फ सर्जरी से ही किया जा सकता है। आइये फिस्टुला से जुड़े कारण, लक्षण और उपचार के बारे में जानते हैं साथ ही हम यह जानेंगे कि फिस्टुला के लिए सबसे अच्छा अस्पताल कौन सा है।

    फिस्टुला के कारण

    ज्यादातर मामलों में गुदा के फोड़े ही फिस्टुला का प्रथम कारण होते हैं। जब व्यक्ति के गुदा के आस-पास फोड़े रहते हैं और इनका इलाज न किया जाए तो ये फोड़े आपस में जुड़कर फिस्टुला का निर्माण करते हैं। इसके अलावा और भी कई कारण हो सकते हैं जिससे फिस्टुला हो सकता है।

    • गुदा क्षेत्र के आस-पास की गई किसी भी प्रकार की सर्जरी
    • डायबिटीज
    • शराब का अधिक सेवन
    • गुदा क्षेत्र में की गई रेडिएशन थेरेपी भी फिस्टुला का कारण बन सकती है
    • कब्ज
    • अगर रोगी टीबी या एचआईवी से पीड़ित है तो उसमें फिस्टुला होने के ज्यादा चांसेस होते हैं
    • छोटी या बड़ी आंत में सूजन हो जाने के कारण
    • पाचन संबंधी समस्याएं
    • क्रोहन रोग (इस रोग में रोगी को लम्बे समय से पाचन संबंधी बीमारी की शिकायत होती है जिसमें रोगी के पाचन तंत्र में सूजन हो जाता है।
    • मोटापा और धूम्रपान करना

     

    फिस्टुला के लक्षण

    फिस्टुला के कई लक्षण होते हैं। अगर आप इन लक्षणों के नजर आने पर ही फिस्टुला से बचाव शुरू कर दें तो फिस्टुला का इलाज आसानी से किया जा सकता है।

    • कुछ दिनों के अंतराल में गुदा मार्ग में फोड़े होने
    • गुदा क्षेत्र को स्पर्श करने पर सूजन महसूस होना और दर्द होना
    • मल त्याग के दौरान जलन और दर्द
    • गुदा मार्ग से रक्तस्त्राव या मवाद बहना
    • गुदा के आस-पास पस निकलना
    • कब्ज
    • गुदा के भीतर सूजन
    • थकान और बुखार

    अगर ये लक्षण नजर आते हैं तो तुरंत ही फिस्टुला की जांच करवानी चाहिए।

     

    फिस्टुला की जाँच

    सबसे पहले डॉक्टर आपके गुदा की जाँच करेंगे और आपसे आपके स्वास्थ्य के अतीत के बारे में पूछेंगे। अगर उन्हें स्थिति सामान्य लगती है तो कुछ दवाइयाँ लिख देंगे। स्थिति गंभीर होने पर वो फिस्टुला की जांच करवाने की सलाह दे सकते हैं।

    जांच के लिए एक्स-रे या सीटी स्कैन जैसे टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होता है जिसमें ख़ास किस्म की किरणों का उपयोग होता है। एक्स रे और सीटी स्कैन की मदद से कंप्यूटर स्क्रीन पर रोगी के रोग की स्थिति दिखाई देती है। स्थिति का मूल्यांकन करने के बाद डॉक्टर इलाज की सलाह दे सकते हैं।

    फिस्टुला का इलाज

    फिस्टुला का सफल इलाज सिर्फ सर्जरी से ही संभव है। फिस्टुला को ठीक करने के लिए कोई भी दवा या घरेलू नुस्खे उपयुक्त नहीं है। आइये जानते हैं कि फिस्टुला को ठीक करने के लिए कितने किस्म की surgeries होती हैं।

    • फिस्टुलोटोमी (Fistulotomy) – फिस्टुलोटोमी में फिस्टुला की ट्यूब को काट दिया जाता है और कुछ दवाइयों की मदद से इसे ठीक कर दिया जाता है। फिस्टुलोटोमी में भगंदज के दोबारा होने की संभावना बहुत कम होती है।
    • फिस्ट्युलेक्टमी (Fistulectomy)- इस प्रक्रिया में भगंदर को जड़ से काट देते हैं। गंभीर परिस्थिति में इस उपचार को वरदान माना जाता है। लेकिन, इसका एक दुष्प्रभाव भी है कि आप मल के ऊपर अपना असुंतलन खो बैठते हैं जिससे अचानक से मल के लीक हो जाने की समस्या होती है।
    • लेजर सर्जरी (laser surgery) – फिस्टुला का इलाज करने के लिए लेजर सर्जरी सबसे अच्छी मानी जाती है। इसमें लेजर की मदद से फिस्टुला को सुखा दिया जाता है। इससे न तो मल के लीक होने की समस्या होती है और न ही रिकवरी में ज्यादा समय लगता है। दो से तीन दिनों के भीतर रोगी अपने सामान्य जीवन में वापिस आ जाता है। लेज़र सर्जरी में रोगी को बिलकुल भी दर्द नहीं होता है। इसके बाद फिस्टुला के दोबारा होने की समस्या भी नहीं होती है। साथ ही गुदा क्षेत्र में किसी भी तरह का कट या घाव नहीं होता है।

     

    फिस्टुला के इलाज के लिए किस सर्जरी का चयन करे?

    भगंदर के इलाज के लिए लेजर सर्जरी सबसे अच्छी प्रक्रिया है। इसमें रोगी को किसी भी तरह की परेशानी नहीं होती है। वहीं, कुछ ही दिनों के भीतर रोगी अपनी सामान्य जीवनशैली में दोबारा लौट आता है।

    अगर आप फिस्टुला की लेजर सर्जरी से इलाज करवाने वाले हैं तो Pristyn Care के जरिए इलाज करवाना आपके लिए काफी फायदेमंद होगा।

    फिस्टुला के लेजर इलाज के लिए Pristyn Care क्यों?

    Pristyn Care के सभी सर्जन कई लोगों की सर्जरी कर चुके हैं और उन्हें कई सालों का विशेष एक्सपीरियंस है। इस वजह से सर्जरी का सक्सेस रेट और रोगी का रिकवरी रेट कई गुना ज्यादा होता है। लेजर इलाज के दौरान उपयोग होने वाले सभी इंस्ट्रूमेंट बहुत एडवांस होते हैं जिससे दर्द की कोई गुंजाईश नहीं होती है।

     

    इसके अलावा रोगी को और भी कई तरह के फायदे मुहैया करवाए जाते हैं। जैसे- रोगी को घर से हॉस्पिटल ले जाने की जिम्मेदार Pristyn Care के स्टाफ की होती है। गुप्त परामर्श, आरामदायक कमरे में इलाज, इंश्योरेंस का पूरा लाभ आदि कई ऐसे कारण हैं जो लेजर सर्जरी के लिए Pristyn Care को महान बनाते हैं।

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145