Published On : Sat, Sep 17th, 2016

सिपाही पर कातिलाना हमला

nagpur-taffic-policeनागपुर : ‘ड्रंक एंड ड्राइव मुहिम’ में पकडे. जाने से क्रोधित एक युवक ने यातायात सिपाही पर कातिलाना हमला कर दिया. यह घटना शुक्रवार की रात 9.30 बजे संतरा मार्केट में हुई. पांच दिनों में पुलिसकर्मी पर हमले की यह चौथी वारदात है. इससे शहर पुलिस के आला अधिकारियों में हड.कंप मचा हुआ है. नागरिक भी असहज हो गए हैं. जख्मी सिपाही प्रकाश बारंगे है. हमलावर बाइक चालक सूर्यकांत वरुण व्यास है. हमले के बाद वह फरार हो गया है.

मामला यूं है कि संतरा मार्केट चौक पर हवलदार मोहन रेवतकर और सिपाही प्रकाश बारंगे ड्रंक एंड ड्राइव मुहिम के तहत दुपहिया वाहन चालकों को पकड. रहे थे. उन्होने दो बाइक चालकों पर कार्रवाई करने के बाद आरोपी सूर्यकात को रोका. वह ट्रिपल सीट बाइक चलाते हुए जा रहे थे. पुलिस द्वारा ड्रंक एंड ड्राइव की कार्रवाई किए जाने से उसके दोनों साथी वहां से चले गए. ड्रंक एंड ड्राइव में पकडे. गए आरोपी की ब्रेथ एनालाइजर से जांच की जाती है. इसके लिए पुलिस कर्मी आरोपी को यातायात शाखा के कार्यालय ले जाते हैं. सिपाही प्रकाश बारंगे बाइक चालक को उसकी बाइक पर साथ बिठाकर दोसर भवन चौक स्थित यातायात शाखा के उत्तर विभाग कार्यालय ला रहा था. बाइक को प्रकाश चला रहा था जबकि सूर्यकांत पीछे बैठा था.

संतरा मार्केट गेट के पास सूर्यकांत चलती बाइक पर उत्पात मचाने लगा. इससे प्रकाश का नियंत्रण छूट गया. वह बाइक सहित नीचे गिर पड़ा. उसके साथ सूर्यकांत भी गिर पड़ा. प्रकाश के उठने के पहले सूर्यकांत हरकत में आ गया. उसने समीप के पत्थर से प्रकाश का सिर कुचल डाला. प्रकाश गंभीर रूप से जख्मी हो गया. सूर्यकांत बाइक लेकर फरार हो गया. प्रकाश की चीख-पुकार सुनकर लोग दौड. पडे.. इसी बीच हवलदार मोहन रेवतकर उत्तर विभाग कार्यालय पहुंचे. वह प्रकाश और सूर्यकांत को खोजने लगे. रेवतकर साथियों के साथ तत्काल वहां पहुंचे. प्रकाश को मेयो अस्पताल लाया गया.

घटना का पता चलते ही अपर पुलिस प्रकाश आयुक्त सुहास वारके, यातायात शाखा की उपायुक्त स्र्मतना पाटिल, पुलिस निरीक्षक दुर्गे मेयो अस्पताल पहुंच गए. देर रात तक प्रकाश का उपचार चल रहा था. उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जाती है. पांच दिनों में पुलिस पर हमले की यह चौथी वारदात है. गुरुवार सुबह सड.क पर कार पार्क करने से रोके जाने पर फोटो स्टूडियो के संचालक तुषार वर्मा ने झांसी रानी चौक पर पुलिस कर्मियों से मारपीट की थी.

12 सितंबर की रात कलमना थाने के एपीआई अरविंद पवार पर रमन असोफा और उसके भाई रजन असोफा ने हमला कर दिया था. 11 सितंबर को आश्रमशाला संचालक धनगरपुरा, हिंगणा निवासी 29 वर्षीय मुकेश श्रीकृष्ण मते ने यातायात शाखा के हवलदार श्याम नरुले की पिटाई कर दी थी

इसीलिए हुई पहचान
संतरा मार्केट चौक पर कार्रवाई के दौरान हवलदार मोहन रेवतकर ने सूर्यकांत से उसका ड्राइविंग लाइसेंस ले लिया था. इसके चलते उसकी तत्काल पहचान हो गई. वर्ना आरोपी को खोजने में ही पुलिस को परेशानी होती. वह दीक्षा भूमि के माता कचेरी क्वार्टर में रहता है. देर रात तक पुलिस उसकी खोज कर रही थी.