Published On : Tue, Jan 22nd, 2019

मुखबिरों के शक में फिर की नक्सलियों ने तीन लोगों की हत्याएं

नागपुर: नक्सलियों ने तीन लोगों की हत्या कर दी है. जिससे गडचिरोली जिले के भामरागढ़ तहसील के कसणासुर गांव में तनाव भरा माहौल बना हुआ है. गडचिरोली जिले के भामरागढ़ तहसील के कसणासुर गांव में नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी के शक में तीन ग्रामीणों की हत्या कर दी है. घटना सोमवार रात की है। हत्या करने के बाद नक्सलियों ने शव को सड़क पर फेंक दिया और बैनर पोस्टर चस्पा कर घटना को अंजाम देने की वजह लिखी है.

भामरागढ़ तहसील के कसनासुर गांव में मंगलवार सुबह सड़क पर तीन ग्रामीणों के शव पड़े मिले. नक्सलियों ने इन तीनों की हत्या कर शव के पास ही पोस्टर लगाकर घटना की वजह साफ की है. नक्सलियों ने मौके पर लगाए बैनर में लिखा है कि अप्रैल 2018 में कसनासुर-तुमिरगुंडा इलाके में उसके करीब 40 कामरेड मारे गए थे और इस घटना को अंजाम देने के लिए तीन ग्रामीणों ने पुलिस की मुखबिरी की थी। इस वजह से इन तीनों को मारा जा रहा है.

नक्सलियों ने कसणासुर निवासी मालू मडावी, कन्ना रैनू मडावी और लालसू कुलयेति की हत्या की है. सड़क पर पड़े शव को पुलिस ने रिकवर करने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. गडचिरोली एसपी शैलेष बलकवड़े ने बताया कि इस घटना पर अपराध कायम करने की प्रक्रिया चल रही है. फिलहाल यह साफ है कि नक्सलियों ने ग्रामीणों की हत्या की है.

सूत्रों के अनुसार बंदूकधारी नक्सलियों ने गत 8 जनवरी को कसणासुर गाँव पहुचकर गाँव के कुल 6 लोगो का अपहरण किया था, जिनमे से 3 ग्रामीणों की हत्या कर दी गई और तीनों को छोड़ दिया गया.


हत्या की घटना के बाद समूचा कसणासुर गाँव दहशत में है, ग्रामीणों ने सुरक्षा की दृष्टि के गाँव खाली कर ताडगाँव पुलिस थाना में सहारा लिया है, फिलहाल पूरा गांव खाली पड़ा है

मिली जानकरी के मुताबिक यह हत्याएं पुलिस मुखबिरी के शक में नक्सलियों ने की है. घटना सोमवार रात की है. हत्या करने के बाद नक्सलियों ने शव को सड़क पर फेंक दिया और बैनर पोस्टर चस्पा कर घटना को अंजाम देने की वजह लिखी है.
भामरागढ़ तहसील के कसनासुर गांव में मंगलवार सुबह सड़क पर तीन ग्रामीणों के शव पड़े मिले. नक्सलियों ने इन तीनों की हत्या कर शव के पास ही पोस्टर लगाकर घटना की वजह साफ की है. नक्सलियों ने मौके पर लगाए बैनर में लिखा है कि अप्रैल 2018 में कसनासुर-तुमिरगुंडा इलाके में उसके करीब 40 कामरेड मारे गए थे और इस घटना को अंजाम देने के लिए तीन ग्रामीणों ने पुलिस की मुखबिरी की थी. इस वजह से इन तीनों को मारा जा रहा है.

नक्सलियों ने कसणासुर निवासी मालू मडावी, कन्ना रैनू मडावी और लालसू कुलयेति की हत्या की है। सड़क पर पड़े शव को पुलिस ने रिकवर करने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. गडचिरोली एसपी शैलेष बलकवड़े ने बताया कि इस घटना पर अपराध कायम करने की प्रक्रिया चल रही है। फिलहाल यह साफ है कि नक्सलियों ने ग्रामीणों की हत्या की है.

सूत्रों के अनुसार बंदूकधारी नक्सलियों ने गत 8 जनवरी को कसणासुर गाँव पहुचकर गाँव के कुल 6 लोगो का अपहरण किया था, जिनमे से 3 ग्रामीणों की हत्या कर दी गई और तीनों को छोड़ दिया गया

हत्या की घटना के बाद समूचा कसणासुर गाँव दहशत में है, ग्रामीणों ने सुरक्षा की दृष्टि के गाँव खाली कर ताडगाँव पुलिस थाना में सहारा लिया है, फिलहाल पूरा गांव खाली पड़ा है.