Published On : Sat, Dec 2nd, 2017

प्रधानमंत्री द्वारा किसानो से किये गए वादे को याद दिलाने के लिए साईकिल यात्रा पर निकला युवक

kya hua tera wada
नागपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विदर्भ की धरती पर किसानों से किये गए वादे की याद दिलाने आर्णी का 28 वर्षीय युवक अवधूत गायकवाड़ उनके गृह नगर वड़नगर के लिए साईकिल से निकला है। अपने इस सफ़र की शुरुवात अवधूत ने यवतमाल जिले के दाभाड़ी गाँव से की है, ये वही गाँव है जहाँ लोकसभा चुनाव के दौरान तब के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार मोदी ने किसानो से उनकी तक़दीर बदलने का वादा किया था। अवधूत ने अपनी साईकिल पर प्रधानमंत्री की तस्वीर का बैनर भी लगाया है जिस पर लिखा है क्या हुआ तेरा वादा ! खास है की अवधूत, प्रधानमंत्री की माँ से भी मुलाकात की कोशित करेंगे और उन्हें जिले के किसानो की पासबुक की झेरोक्स कॉपी सौपने का प्रयास करेंगे।

अवधूत के मुताबिक किसान आत्महत्या के लिए बदनाम यवतमाल जिले के दाभाड़ी गाँव में किसानो के साथ चाय पर चर्चा के दौरान मोदी ने कई तरह के वादे किये थे। इन वादों में उनकी सरकार आने पर किसानो को परेशानी के दलदल से निकालने के लिए कई कदम उठाने की जानकारी उनके द्वारा दी गयी थी। अब उनकी सरकार को तीन वर्ष पुरे हो चुके है लेकिन किसान की हालत जस की तस ही है। किसानो को उत्पादन खर्च से 50 फीसदी ज्यादा का भाव दिलाने ,कपास से कपड़ा बनाने का क्षेत्र में कारखाना बनाने,देश के बाहर मौजूद कालेधन को वापस लेकर देशवासियों को 15 लाख रूपए देने का आश्वासन धरा का धरा रह गया। प्रधानमंत्री के कहने पर लोगो ने जनधन के खाते तक खोल लिए लेकिन पैसे का कही नामो निशान नहीं है।

किसानो की स्थिति से अवगत कराने के लिए दाभाड़ी गाँव के 25 किसानो के खातों की पासबुक सबूत के तौर पर अवधूत ने अपने पास रखा है जिसे मौका मिलने पर वो प्रधानमंत्री की माँ को सौपेंगे। अवधूत के मुताबिक सबकी माँ महान होती है उनका मकसद कतई उनके मन को दुखाना नहीं है बस वह चाहते है की प्रधानमंत्री की माँ उन्हें समझाए और वचन जनता को वचन दे की उनके हालत सुधरेंगे।

मोदी के गाँव के लिए साईकिल पर निकला युवक पेशे से हमाल का काम करता है। उसके पास खुद साईकिल भी नहीं है गाँव के ही एक अन्य व्यक्ति से उधारी में साईकिल लेकर वह इस यात्रा में निकला है।