Published On : Tue, Jul 30th, 2019

सत्य ही शिव है और शिव ही सुंदर है: बालव्यास योगेश कृष्ण

Advertisement

नागपुर : श्रावण मास के उपलक्ष्य पर सामूहिक शिवमहापुराण कथा ज्ञान यज्ञ महोत्सव का आयोजन ग्रेट नाग रोड के अशोक चैक में किया गया. इस अवसर पर चित्रकूट निवासी कथाकार बाल व्यास योगेश कृष्ण जी महाराज ने कथा के अंतिम दिवस कृष्ण उपमन्यू संवाद व शिवरात्रि की महिमा का बखान किया.

उन्होंने कहा कि सत्य ही शिव है और शिव ही सुंदर है. तभी तो भगवान आशुतोष को सत्यम, शिवम्, सुंदरम् कहा जाता है. भगवान शिव की महिमा अपंरपार है. वहीं भोले नाथ का प्रसन्न करने का ही महापर्व है शिवरात्रि. जिसे त्रयोदशी तिथि, फाल्गु मास, कृष्ण पा की तिथि को मनाया जाता है. हमारे शास्त्रों में लिखित है कि महाशिवरात्रि का व्रत रखने वाले साधक को मोक्ष की प्राप्ति होती है.

Advertisement
Advertisement

जगत में रहते हुए मनुष्य का कल्याण करने वाला व्रत है शिवरात्रि. इस व्रत को रखने से साधक के सभी दुःखों, पीड़ाओं का अंत तो होता ही है साथ ही मनोकामनाएं भी पूर्ण होती है. इसे भक्ति भाव से स्वतः के लिए तो करना ही चाहिए साथ ही जगत के कल्याण के लिए भी भगवान आशुतोष की आराधना करनी चाहिए. मनसा…वाचा… कर्मणा हमें शिव की आराधना करनी चाहिए. भगवान भोलेनाथ ही नीलकंठ हैं, विश्वनाथ हैं.

आज व्यासपीठ का पूजन यजमान अनुसूया सुंदरलाल रेवाड़िया, जयंती बबनकुमार रेवाड़िया, मोरेश्वर भांडारकर, श्रावण मानकर, अभिषेक कारेमोरे, समायरा खेड़ीकर, बबलू येडे, अजय जोशी, विष्णु गोयंका, श्रीकांत महागालकर, अजय शर्मा सुनील पोहाणे व समस्त भांडारकर परिवार ने किया. 31 जुलाई को दोपहर 2 बजे होम हवन व महाप्रसाद का वितरण किया जाएगा। भक्तों से उपस्थिति की अपील की गई है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement