Published On : Wed, Jul 29th, 2020

कंटेन्मेंट झोन के रहिवासियों ने किया मुख्याधिकारी का घेराव

अनाज तथा किराणा सामानकी किट देनेकी मांग

सत्तापक्ष नेता चरणसिंग ठाकूर ने शाम तक निर्णय लिये जाने की बात कही

काटोल :- कोविड १९ कोरोना विषाणूका बढता प्रादुर्भाव देखते हुए शासन कि ओरसे अगर कोई व्यक्ती पाॅजीटीव पाया जाता है उस व्यक्ती के घर के साथ आजुबाजु वाले घरो को भी कोरंटाइन किया जाता है पहले यह कालावधी 28 दिनोका था इन दिनो मे कोई भी बाहर नही निकल सकते नौकरी व्यवसाय खेतखलियान के काम सब थम जाता है व्यवसाय बंद होने पर पैसो की आवाजाही बंद होने से रोजी-रोटी का प्रश्न निर्माण होता है ,ऐस मे नागरिकों को किसी तरह की दिक्कतो सामना ना करना पडे इसलिए नगरपालिका की ओर से अनाज एवम किराणा की कीट उपलब्ध कराई गयी थी सबसे पहले कुणबीपुरा मे कोरंटाइन लोगों को कीट बाटी गयी तो चौबे लेआऊट निवासी कोरंटाइन लोगों को यह सुविधा क्यों मुहैय्या नही करायी गयी । इस प्रश्न को लेकर चौबे लेआऊट मे जो कोरंटाइन हुए थे

उनमेसे महिला पुरुषों ने नगर पालिका पहुचकर मुख्याधिकारी को घेराव कर किट उपलब्ध कराने की मांग रखी। उसके बाद सत्तापक्ष नेता चरणसिंग ठाकूर से मिलकर सहकार्य करने की बात कही उस पर चरणसिंग ठाकूर इन्होने बताया कि नगर पालिकामे आपत्ती व्यवस्थापन के लिए एक समिती बनाई गयी है वही इस पर निर्णय लेती है शामतक इस पर निर्णय होने की बात कही और कोरोना जैसे आपातकालीनस्थिती मे राजकारण ना करे क्योंकी नगरपालिकाफंडसे यह सब किट का सामान उपलब्ध कराया जाता है

इसकेलिए शासनस्तर कोई राहतनिधी नही मिला है कोरोना के चलते नगरपालिका क्षेत्रमे रहनेवाले बहोत कम लोगोने टॅक्स जमा किया है और यही निधी नगरपालिका प्रशासनके पास होता है उसमेसेही सभी खर्चोका वहन किया जाता है इसलिए नगरपालिका प्रशासन को सहकार्य करने की अपील चरणसिंग ठाकूर इन्होने नागरिकोसे की है.