| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sat, Oct 5th, 2019

    मुख्यमंत्री का नॉमिनेशन वैध, विपक्ष द्वारा लगाए गए आरोप हुए रद्द

    नागपुर: शनिवार 5 अक्टूबर को सुबह से ही मुख्यमंत्री के नॉमिनेशन पर आरोप लगानेवाले विपक्षी नेताओ को आखिरकार शाम को जवाब मिला गया. चुनाव आयोग ने क्षेत्रीय चुनाव आयोग के अधिकारी द्वारा शनिवार शाम विपक्षी नेताओं द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को दरकिनार कर मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की उम्मीदवारी पर मुहर लगा दी है.

    जानकारी के अनुसार विपक्षी पार्टी के नेताओं आशीष देशमुख (कांग्रेस), अमोल हाडके (आप) सतीश उके ने नामांकन फॉर्म में कुछ जानकारी छुपाने का आरोप मुख्यमंत्री पर लगाया था. उन्होंने सीएम पर नामांकन फॉर्म भरने के लिए एक साल पुराने नोटरी स्टैम्प का उपयोग करने का भी आरोप लगाया था.

    हालांकि, चुनाव आयोग के अधिकारियों ने विपक्ष द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को दरकिनार करते हुए सीएम फड़नवीस की उम्मीदवारी को बरकरार ररखा है. आशीष देशमुख ने मुख्यमंत्री के उमेदवारी आवेदन के साथ दिए गए शपथपत्र पर सिक्का मारनेवाली नोटरी का टर्म समाप्त होने का दावा किया था. इस दौरान मनपा के सत्तापक्ष नेता संदीप जोशी ने बताया की नोटरी अधिकृत 2023 तक है.इसमें कोई भी गलती नहीं है. विपक्ष ने लगाए हुए सभी आरोप निराधार है. उन्होंने कहा की शिखंडी जैसे वार न करे मर्द जैसे सामने आकर मुकाबला करे. नोटरी नहीं है तो भी फॉर्म रद्द नहीं होता ऐसा निर्णय सुप्रीम कोर्ट में है.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145