| |
Published On : Fri, Dec 7th, 2018

बेवजह हॉर्न बजानेवाले वाहनचालकों को आरपीएफ ने दिया सड़क पर खड़े होकर ‘ नो हॉर्न ‘ का सन्देश

 

नागपुर: हमेशा देखा जाता है कि, सडको पर बिना वजह वाहनचालकों की ओर से अपनी आदत के अनुरुप किये जा रहे शोर शराबे जैसे – वाहनो के हार्न बजाने के कारण हो रहे ध्वनि प्रदुषण के कारण मानवजाति, पर्यावरण तथा पक्षियो, जीवजन्तुओ पर हो रहे दुष्परिणाम को ध्यान में रखते हुये नागपुर मध्यरेल आर.पी.एफ. के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त ज्योति कुमार सतीजा द्वारा बल सदस्यो को साथ लेकर समाज में हो रहे सामाजिक बदलाव को बदलने हेतू ’’नो – हाॅर्न’’ की एक नई पहल की गई.

जिसमें आरपीएफ सदस्यो के साथ ’’नो-हाॅर्न’’ का बोर्ड लेकर आर.बी.आई संविधान चौक व मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय, नागपुर के सामने बने किंग्स वे चौक पर आने – जाने वाले वाहन चालको तथा आस-पास के लोगो से सांकेतिक अपिल की गई कि, वह बिना वजह हाॅर्न बजाकर ध्वनि प्रदुषण कर वातावरण को प्रभावति न करे, यातायात नियमो का पालन करने तथा ध्वनि प्रदुषण से होने वाले दुष्परिणाम से लोगो को जानकारी दी.

यह पहल लोगो में सामाजिक व्यवस्था कायम करने के इरादे से आर.पी.एफ नागपुर द्वारा की गई हे. इसके अच्छे परिणाम आने में वक्त लग सकता है. इस लिये यह पहल भविष्य में समय – समय पर आर.पी.एफ नागपुर द्वारा कि जाएगी. इसको और भी अच्छे ढंग से कार्यान्वित करने के लिये स्कूलो और काॅलेजो में भी इस पहल को जारी रखा जायेगा .

सामाजिक व्यवस्था में हो रहे बदलाव के कारण तथा ध्वनि प्रदुषण के कारण मानव शरीर मे बढ रहे मानसिक तनाव, मानव के व्यवहार में चिड-चिडापन आना एक आम बात हो गई हैं साथ ह ध्वनि प्रदुषण के कारण पक्षियो पर भी इसके दुष्परिणाम देखे गये जा रहे है.

ध्वनि प्रदुषण जैसे कार्य को रोकने हेतू लोकल पोलीस या ट्राफिक पोलीस का ही कार्य नही है यह आम नागरिकोे को भी अपनी – अपनी भूमिका निभाते हुये आत्मचिंतन कर अपने आचरण में बदलाव लाने की, मानव के खुद को अनुशासन में रखने की तथा देश के प्रति अनुशासनात्मक कदम उठाने की जरुरत है. जिससे सामाजिक व्यवस्था के साथ – साथ देश में बदलाव लाया जा सकता है.

सतीजा द्वारा लोगो को बताया गया कि, स्वयं की एक छोटी सी पहल से हम अपने शहर को एक स्मार्ट शहर बना सकते है साथ ही हम भी एक स्मार्ट नागरिक बन सकते है. वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त के इस नई पहल ’’नो – हाॅर्न’’ से नागरिको में आर.पी.एफ विभाग के एक नया स्वरुप देखने को मिला साथ ही लोगो द्वारा उपरोक्त कार्य के लिये वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त ज्योति कुमार सतीजा, आर.पी.एफ./नागपुर की सराहना करते हुये आर.पी.एफ विभाग की भूमिका को भी जाना.

लिक से हठकर आर.पी.एफ की इस पहल को नागरिको द्वारा काफी सराहा गया, साथ ही साथ नागरिको ने इस पहल की अपने मोबाईल द्वारा फोटो और विडीओ तैयार किया.

कार्यक्रम के दौरान निरीक्षक नागपुर वी.एन.वानखेडे, उपनिरीक्षक गौरीशंकर एडले, प्रधान आरक्षक संजय दलने, प्रधान आरक्षक राकेश करवाडे, प्रधान आरक्षक विवेक कनोजिया, प्रधान आरक्षक सुभाष जुमळे, प्रधान आरक्षक नितिन नाईक, महिला प्रधान आरक्षक उषा तिग्गा, आरक्षक विकास शर्मा, आरक्षक ओमेश्वर चैहान, आरक्षक हरेश महल्ले मौजूद थे.

Stay Updated : Download Our App