Published On : Thu, Feb 7th, 2019

बिल्डर की हटधर्मिता, तोड़ी मनपा की मुख्य ‘ट्रंक लाइन’

मेट्रो रेल प्रबंधन से भवन निर्माता की गहरी सांठगांठ – सहारे

नागपुर: एलआईसी चौक से माउंट होटल चौक के मध्य भारत टॉकीज थी,जिसके नीचे से मनपा की मुख्य ‘ट्रंक लाइन’ को तोड़-फोड़ करने से सदर सह आसपास के परिसर प्रभावित हो गए हैं.मामले की जानकारी मिलते ही मंगलवारी जोन ने बिल्डर को कामबंद करने और पहले नई ‘ट्रंक लाइन’ बिछाने की सूचना दी ,बावजूद इसके बिल्डर अपनी हटधर्मिता से काम शुरू करने की कोशिश के कारण मामला मनपा मुख्यालय और सदर थाने तक पहुँच गया.


याद रहे कि पिछले डेढ़ दशक से शहर का चर्चित भवन निर्माता किशोर राय आये दिन नये-नए विवादों में घिर जाता रहा.इसने अबतक जितने भी संकुल, इमारतों का निर्माण किया वे निम्न दर्जे की और सस्ती लेकिन मौके के जगह पर हैं.फ़िलहाल कामठी मार्ग स्थित एलआईसी चौक से माउंट होटल चौक के मध्य भारत टॉकीज को कर एक बहुमंजिली व्यवसायिक संकुल का निर्माण किया जा रहा.इस निर्माणकार्य शुरू होने की जानकारी स्थानीय नगरसेविका ममता सहारे को मिली तो उन्होंने मौका चौकसी के लिए मनपा के मंगलवारी ज़ोन के सेनेटरी निरीक्षक भूषण गजभिये को भेजी।गजभिये ने निर्माणकार्य क्षेत्र पहुंचकर उपस्थित ठेकेदार को जानकारी दी कि इस जमीन के नीचे( ४० फुट ) से ब्रिटिशकालीन मुख्य ‘ट्रंक लाइन’ गुजर रही हैं जो सदर से आकर टेंट लाइन,गड्डीगोदाम,खलासी लाइन,मोहन नगर से गुजरते हुए मध्य नागपुर स्थित मुख्य नाले में मिली हुई हैं.निर्माणकार्य शुरू करने के पूर्व सर्वप्रथम इस मुख्य लाइन की जगह पहले नई लाइन बिछाए फिर निर्माणकार्य शुरू करें। गजभिये की सलाह पर उपस्थित ठेकेदार ने कहा कि तुम अपना काम करो,हम बांगर को देख लेंगे।

गजभिये के लौटते ही उक्त ठेकेदार ने ‘बेसमेंट’ में दो मंजिली पार्किंग हेतु खुदाई शुरू की.खुदाई लगभग २० फुट के आसपास हुई होंगी कि खुदाई करने वाली जेसीबी ने मुख्य ‘ट्रंक लाइन’ को फोड़ दिया। ‘ट्रंक लाइन’ फूटते ही पूर्ण खुदाई गंदे पानी का तालाब का रूप ले चुकी हैं.इसकी जानकारी पुनः प्रभाग के नगरसेवक बुर्रेवार और नगरसेविका ममता सहारे सह पूर्व महापौर राजेश तांबे को मिली,तीनों आनन्-फानन में घटनास्थल पर पहुंचे।इसके साथ ही मंगलवारी जोन के उपअभियंता,स्वास्थ्य जोनल अधिकारी और सेनेटरी इंस्पेक्टर गजभिये भी पहुंचे। गजभिये ने बिल्डर को काम बंद करने और पहले नई ‘ट्रंक लाइन’ बिछाने सम्बन्धी लिखित सूचना दी.

दूसरी ओर बिल्डर ने जमा गन्दा पानी को ३ मोटर लगाकर माउंट होटल चौक के समीप ‘ड्रेन लाइन'[ में छोड़ने लगे.ताकि काम बंद न करना पड़े.कल रात तक पानी नाले में छोड़ने का क्रम जारी हैं.

बिल्डर की उक्त पहल की शिकायत करने सहारे और तांबे सदर थाना पहुंचे,थाना प्रशासन शिकायत लेने के बजाय उन्हें निर्देश दिया कि शिकायत करने का अधिकार जोनल स्वास्थ्य अधिकारी को हैं.इसके बाद उक्त शिकायतकर्ता मनपा के अतिरिक्त आयुक्त रविंद्र ठाकरे से मुलाकात कर उन्हें उक्त घटनाक्रम से अवगत करवाया। ठाकरे ने वार्ड अधिकारी हरीश राऊत से चर्चा की,राऊत ने जानकारी दी कि नोटिस कालावधि तक कुछ नहीं किया जा सकता। इसके बाद नगरसेविका ममता सहारे ने मनपा नगर रचना विभाग को कल शाम एक पत्र लिख जानकारी मांगी कि नगर रचना विभाग ने ७० वर्ष पुरानी ब्रिटिशकालीन ‘ट्रंक लाइन’ के ऊपर राय उद्योग समूह द्वारा प्रस्तुत बिल्डिंग प्लान को कैसे मंजूर की गई.क्या विभाग ने नक्शा मंजूरी पूर्व बिल्डर द्वारा प्रस्तुत कागजातों की पूर्ण जाँच पड़ताल की.इस सम्बन्ध में पूर्ण कागजी सबूत शह जानकारी ३ दिनों के भीतर दी जाये।

नगर रचना विभाग की दोहरी नित
नगर रचना विभाग एक ओर मनपा स्थावर विभाग में एक आवेदक को मनपा की जमीन लीज पर मांगी।स्थावर विभाग ने नगर रचना विभाग से उनका सुझाव माँगा। इस मामले में नगर रचना विभाग ने स्थावर विभाग को जानकारी दी कि उक्त जगह के नीचे मनपा की ड्रेन/सीवर लाइन गुजर रही हैं,इस जगह पर निर्माणकार्य की अनुमति नहीं दी जा सकती।इस वजह से उक्त आवेदक का मामला रद्द कर दिया गया.तो दूसरी ओर नगर रचना विभाग भारत टाकीज के नीचे से गुजर रही मुख्य ‘ट्रंक लाइन’ पर निर्माणकार्य हेतु मंजूरी दिया जाना,क्या यह गैरकानूनी कृत नहीं,क्या संबंधितों पर क़ानूनी कार्रवाई नहीं होनी चाहिए ?

बिल्डर और मेट्रो रेल प्रबंधन में मिलीभगत
नगरसेविका ममता सहारे के अनुसार बिल्डर ने मेट्रो रेल प्रबंधन से मिलीभगत कर कड़वी चौक से शुरू होने वाली उड़ान पुल माउन्ट होटल चौक पर उतारने की साजिश रची गई ताकि उक्त बिल्डर के संकुल में आवाजाही सुचारु व्यवस्था हो सके.इस मामले को लेकर मनपा की विगत विशेष सभा में पक्ष-विपक्ष नगरसेवकों ने हंगामा भी किया था,प्रभावित स्कूल प्रबंधन,चर्च प्रबंधन और स्थानीय नागरिकों के हितार्थ सत्तापक्ष ने सम्बंधित प्रशासन के संग विशेष बैठक कर मार्ग निकालने का वादा किया था.

परिसर में दरगाह तक पहुंचना कठिनाई का शबब
भारत टॉकीज परिसर में एक दरगाह हैं,यह वर्षों पुरानी हैं,रोजाना पूजा अर्चना होती है,वार्षिक उर्स पर कार्यक्रम होते हैं.इनदिनों निर्माणकार्य शुरू होने से दरगाह तक पहुँचाना काफी कठिन हो गया.फिर भी श्रद्धालु जान जोखिम में दाल सुबह शाम दरगाह तक पहुँच रहे.पिछले एक सप्ताह से दरगाह में आने वालों को बदबूदार जमा पानी की दुर्गन्ध का सामना करना पड़ रहा.पुरानी कहावत हैं दरगाह स्थल से छेड़छाड़ करने वालों को ऊपरी मार सहन करनी पड़ती हैं.मीठा नीम दरगाह से छेड़छाड़ करने पर पूर्व मुख्यमंत्री ने पद गंवा दिया था.