Published On : Wed, Mar 7th, 2018

आरटीओ के रिश्वतखोर पीआरओ की काली कमाई का एसीबी ने किया खुलासा


नागपुर: आरटीओ प्रशाषन भ्रस्टाचार के लिए बदनाम है ही अब एक और मामले ने यहाँ के अधिकारी और कर्मचारियों की गैरकानूनी ढंग से पैसे कमाने की आदत का खुलासा हुआ है। नागपुर आरटीओ कार्यालय में सीनियर क्लार्क पद पर तैनात प्रदीप लेंहगावकर द्वारा गलत ढंग से कमाई गयी संपत्ति का एसीबी ( एंटी करप्शन ब्यूरो ) ने खुलासा किया है। प्रदीप को लेकर आरटीओ कार्यालय को बीते दिनों कई शिकायतें प्राप्त हुई थी। इन शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए एसीबी ने मामले की जाँच पड़ताल की जिसमे खुलासा हुआ की 21 मई 1992 से लेकर 9 अगस्त 2012 तक गैरकानूनी ढंग से चार लाख सत्तर हजार आठ सौ चौहत्तर रूपए कमाए। प्रदीप के पास आरटीओ कार्यालय के पीआरओ (जनसम्पर्क अधिकारी ) की भी अतिरिक्त जिम्मेदारी थी।

शिकायत मिलने के पास एसीबी ने प्रदीप के बेलतरोड़ी स्थित घर में जाँच पड़ताल की जहाँ से मिले दस्तावेज, कैश के आधार पर नियमित कमाई से इतर अतिरिक्त स्त्रोत से पैसे कमाने का खुलसा हुआ। एसीबी ने संपत्ति के खुलासे पर प्रदीप से पूछताछ भी की लेकिन वह इसकी जानकारी नहीं दे पाया। एसीबी द्वारा प्रदीप के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।