Published On : Wed, Dec 3rd, 2014

नेर : 13 छात्राओं के शरीर पर गडाए अध्यापक ने दात

 

  • शारीरिक शोषण करता रहा कई माह से
  • नेर के दगडधानोरा जि.प. प्राथमिक स्कुल की घटना

नेर (यवतमाल)। स्कुल में पढ़ाने के स्थान पर तेरा छात्राओं के शरीर पर दात गडाकर उनका शारीरिक शोषण एक क्रुर अध्यापक करता रहा. यह घटना तहसील के दगडधानोरा जि.प. प्राथमिक स्कूल में घटी.  घटना के बाद से यह अध्यापक फरार है. उसका नाम लक्ष्मण पिलावन (45) है. इस  घटना का पता चलतेही गाववाले संतप्त हो गए है. उन्होने उस अध्यापक को गाववालों के सुपूर्द करने की मांग की है.

शिक्षा के पेशे और शैक्षणिक कार्य में कलंक लगानेवाले इस अध्यापक का यह कालाचित्र भी इस तरह प्रकाश में आया. गत 11 माह से इस अध्यापक ने स्कूल की 13 छात्राओं का शारीरिक शोषण किया. दोपहर 3 बजे कक्षा 1 से 4 में अध्ययनरत छात्राओं के शरीर से यह अध्यापक खेलता रहा. वह छात्राओं को चॉकलेट, बिस्कीट पैसो का लालच दिया करता था. और उसके बहाने छात्राओं के शरीर से खेला करता था. आज दोपहर में उसमें से एक छात्रा की मां स्कूल आयी थी. तब उसने उसकी बिटीया का स्कूली ड्रेस  ठिक है या नही यह देखा. तो बच्ची के शरीर के अंतर्गत हिस्से में उसे कुछ जख्म दिखाई दिए. तब इस मामले की उसने पुछताछ की. उसके बाद बच्ची ने रोते-रोते बताया की गत 11 माह से यह अध्यापक उनके साथ इस प्रकार खेलकर उनका शरीर नोंच रहा था. ऐसी एक या दो छात्रा नही तो लगभग 13 छात्राओं के साथ इस अध्यापक ने अश्लिलता का खेल खेला. इस घटना की जानकारी गाव में फैलतेही पंचायत समिती के सभापती भरत मसराम, शिक्षा विस्तार अधिकारी तांबेकर ने उक्त स्कुल को भेट दी. तबतक यह अध्यापक लंबी छुट्टी का अर्जी देकर अमरावती भाग गया था. इस बारे में पिडीता के पिता ने नेर पुलिस थाने में पहुंचकर शिकायत दी. आरोपी के खिलाफ भादंवि की धारा 354(अ) मे गुनाह दर्ज किया गया है. इस घटना से अध्यापकों पर का विश्वास उड़ता जा रहा है. उस अध्यापक के खिलाफ कड़ी कारवाई करने की मांग की गई है.

टेबलपर सुलाकर करता था अश्लिल कार्य
इन छात्राओं ने पुलिस को बताया की वह इन छात्राओं को टेबल पर सुलाकर उनके साथ अश्लिल कार्य करता था. इसके बावजूद  पुलिस ने इस आरोपी के खिलाफ कड़ी धाराओ के तहत गुनाह दर्ज नही किया है. इससे पहले लाडखेड पुलिस ने भी ऐसेही एक नाबालिक के साथ हुए बलात्कार के मामले में छेडछाड का गुनाह दर्ज कर आरोपी को अभयदान दिया था. इस मामले मे भी नेर थानेदार  द्वारा यही कार्रवाई की जा रही है. जिससे इस मामले में वरिष्ठ पुुुलिस अधिकारी ध्यान देकर सही मामला दर्ज करें ऐसी मांग भी दगडधानोरा निवासियों ने की है.

Representational Pic

Representational Pic