Published On : Mon, Nov 27th, 2017

सीनेट चुनाव में तायवाडे समूह का बोलबाला


नागपुर: राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय के सीनेट में प्राचार्य समूह में बबनराव तायवाडे ग्रुप ने बाजी मारी है। यही नहीं हर खेमें में खाता खोलकर यंग टीचर्स एसोसिएशन ने बड़ी सफलता हासिल की है, जबकि सेक्यूलर पैनल के हाथ निराशा रही।

बता दें कि बनबराव तायवाड़े ने चुनाव पूर्व प्राचार्य समूह में 9 में से 7 प्राचर्यों के चुनकर आने का दावा किया था। लेकिन परिणाम आने पर उनके समूह से केवल 5 प्राचार्य ही चुनकर आ पाए हैं। इसमें विमन कॉलेज ऑफ आर्ट एंड कॉमर्स क़लेज के नरेंद्र दीक्षित पहले ही फेरी में चुन लिए गए। इसी तरह नारायणराव काले स्मृति मॉडल कॉलेज के संजय धनवटे, डॉ. आंबेडकर कॉलेज के प्रल्हाद पवार, मौदा के एसआरबीटी महाविद्यालय के विनोद गावंडे और कोराडी तायवाडे महाविद्लाय के शरयू तायवाडे ऐसे कुल मिलाकर पांच प्राचार्य तायवाडे समूह से चुनकर आए। दूसरे राउंड में सेक्यूलर पैनल से विनोद नानोटी, मृत्युंजय सिंह और डॉ. मसराम विजेता रहे और शिक्षामंच से उर्मिला डबिर को भी प्राचार्य समूह में आने में सफलता मिली है।

सीनेट प्राचार्य के लिए दस जगह है जिसमें से आधी सीचे खुला वर्ग व आधी आरक्षित वर्ग के िलए रखी गई थीं। इसमें वीजेएनटी समूह से चंदनसिंह रौटेले पहले ही चुनकर आ चुके थे। इसी तरह सीनेट के व्यवस्थापकीय प्रतिनिधियों में सेक्यूलर पैनल की स्मीता वंजारी, दुष्यंत चतुर्वेदी और किशोर उमाठे चुनकर आए। यग टीचर्स एसोसिएशन की ओर से बबनराव तायवाडे व शिक्षा मंच की ओर से राजेश भोयर विजयी हुए। वहीं डॉ. सुधार फूलझेले भी बिना विरोध चुनकर आए।