Published On : Sat, Mar 24th, 2018

पूर्व दिवगंत राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को विद्यार्थी बनाए अपना रोल मॉडल – राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित


नागपुर: नागपुर यूनिवर्सिटी का दीक्षांत समारोह शनिवार को सिविल लाइन के वसंतराव देशपांडे सभागृह में संपन्न हुआ. इस दौरान मुख्य अतिथि के रूप में तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित प्रमुख रूप से मौजूद थे. उनके हाथों विद्यार्थियों को डिग्रियां और मेडल्स प्रदान किए गए. समारोह में विद्यार्थियों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि 1959 में उन्होंने नागपुर यूनिवर्सिटी से ही अपना ग्रेजुएशन पूरा किया था. उसके बाद से कई पीढ़िया इस यूनिवर्सिटी से पढ़कर निकली है. उन्होंने कहा कि उनके बच्चे और पोते भी यही से पढ़े है.

उन्होंने विद्यार्थियों को महात्मा गांधी की सात बातों पर अमल करने के लिए कहा. पुरोहित ने कहा कि किताबों को पढ़ने की आदत डालिए. किताबे पढ़ने से मनुष्य पर सकरात्मक असर होता है. 1986 में भारतीय विद्या भवन की शुरुआत उन्होंने की थी. उन्होंने प्रेसेंस ऑफ़ माइंड पर आधारित एक कहानी भी बताई. देश को विश्वगुरु बनाने की बात भी उन्होंने कही. धर्मनिरपेक्षता पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि पूर्व दिवगंत राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम मुस्लमान होने के बावजूद भी देश का राष्ट्रपति बनाया. उनको सबसे ज्यादा प्यार करनेवाले हिन्दू ही थे. उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को अपना रोल मॉडल अब्दुल कलाम को बनाना चाहिए और उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए.


इस समारोह में नागपुर यूनिवर्सिटी के कुलगुरु डॉ. सिध्दार्थविनायक काणे, प्र-कुलगुरु प्रमोद येवले, अन्य पदाधिकारी समेत सैकड़ो की तादाद में विद्यार्थी मौजूद थे.