Published On : Sat, May 2nd, 2015

सावनेर : मुन्नी बदनाम हुई की धून में पर्चा हल करने को मजबूर छात्र !

 

सवांददाता / किशोर ढुढ़ेले

सावनेर (नागपुर)। शादियों का मौसम और परीक्षाओं का दौर साथ साथ चल रहा हैं. कला वाणिज्य और विज्ञान के स्नातक छात्र परीक्षा केंद्र पर शादी की शोरगुल मे पर्चा हल कर अपना भविष्य सवारने का सपना देख रहे है. वहीं दुल्हेराजा अपने सुखी जिवन के लिए घोडी चढ़कर वैवाहिक बंधन मे बंधने को आतूर हैं. ऐसे मे छात्रों का अल्लाह मालिक… ऐसा ही कुछ नजारा सावनेर स्थित भालेराव सायंन्स कालेज परीक्षा केन्द्र पर दिख रहा है. परीक्षा केंद्र के समीप एक नहीं दो दो मंगल कार्यालय हैं और परीक्षा एंव शादी का मीलाजूला संगम, बारातियों का शोर बजाओ-बजाओ, मुन्नी बदनाम हुई, काटा लगा, ऐसे कानफोड़ू बैंड बाजे और डीजे की धून में सेकडों छात्रों का भविष्य डाव पर लगता नज़र आर हा हैं.

शादियों और बारात के लिए कुछ कानून भी बने हैं, ”पर बिल्ली के गले में घंटी बांधे कौन”. बारात निकालने की अनूमति स्थानीय पो-स्टे से अनिवार्य है. समय का बंधन, सार्वजनिक स्थान, साइलेंट झोन में पटाखे फोड़ना मना, रहदारी मे व्यवधान नहीं हो ऐसा सब होने पर भी न कोई अनूमति लेता हैं न वक्त पर शादी लगती है. ऐसे मे बारातियों की हुल्लड़ आज मेरे यार की शादी हैं, अरे तेरे यार की शादी मे दुसरों को दीक्कते क्यों? परीक्षा केंद्र के समीप के ऐसे मंगल कार्यालयों पर पाबंदी अनिवार्य हैं ऐसी मांग विद्यार्थियों के अभीभावक कर रहे हैं. जिन-जिन परीक्षा केंद्र के समीप मंगल कार्यालय है उस परिसर में साइलेंट झोन निर्माण कर छात्रों का भविष्य बचाने की मांग हो रही हैं. इस दीशा मे संबंधितो को दीशानीर्देश तथा बिना अनूमति से बारात व बारातियों के साथ-साथ मंगल कार्यालय संचालक पर कारवाई कर पुलिस प्रशासन छात्रों का भविष्य सवारने मे मदद करती हैं या नहीं इसकी अभिभावकों की नजरे लगी हुईं हैं.

File Pic

File Pic