Published On : Mon, Apr 9th, 2018

यूनिवर्सिटी में विद्यार्थी कृति समिति ने मांगों को लेकर किया विरोध प्रदर्शन

Protest at Nagpur University

नागपुर: सोमवार को विद्यार्थी कृति समिति की ओर से नागपुर यूनिवर्सिटी परिसर में विरोध प्रदर्शन किया गया. विद्यार्थियों ने बताया कि शिक्षक और शिक्षकेत्तर पदभरती को लेकर प्रशासन गंभीर नहीं है. यूनिवर्सिटी में 600 से ज्यादा पद खाली पड़े हैं. इस बारे में यूनिवर्सिटी के आला अधिकारी कुछ भी बात नहीं करते. इस बारे में जवाब मांगने जब विद्यार्थी यूनिवर्सिटी जाते हैं तो वहां पर महाराष्ट्र सुरक्षा बल के सुरक्षाकर्मी लगाए गए हैं.

न्यायलय में न्यायधीश के आने जाने के लिए एक स्वतंत्र मार्ग होता है. उसी तरह से शायद नागपुर यूनिवर्सिटी के कुलगुरु ने भी ऐसा ही कोई मार्ग बनाने का आरोप भी विद्यार्थियों ने लगाया है. इस दौरान प्रदर्शन का नेतृत्व करनेवाले विद्यार्थी प्रमोद कानेकर ने बताया कि यूनिवर्सिटी हॉस्टल में विद्यार्थियों की संचारबंदी पर रोक लगाई गई है. परिसर में घूमने पर पाबंदी लगाई गई है. इस बारे में विद्यार्थियों ने जब शारीरिक शिक्षा संचालक से बात की तो उन्होंने कहा कि महामार्ग पर जाकर घूमिये. कानेकर ने इस दौरान यह भी कहा कि यूनिवर्सिटी के ग्राउंड और सुभेदार हॉल को पैसे कमाने का साधन बनाया गया है. दूसरे लोगों को यह किराए पर दिया जा रहा है. विद्यार्थियों ने मांग की है कि यूनिवर्सिटी की प्रशासनिक इमारत की दोनों तरफ की सड़कों को शुरू किया जाए. पिछले 8 वर्षों से छात्र और छात्राओं के लिए नए हॉस्टल की मांग की जा रही है. लेकिन अब तक यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कोई भी कदम नहीं उठाया है. छात्राओं के लिए कॉमन रूम तक नहीं है.

Protest at Nagpur University

कानेकर ने यह भी सवाल उठाया है कि ऑनलाइन वैल्यूएशन प्रक्रिया गलत साबित हो रही है. इस प्रक्रिया से क्रॉस वैल्यूएशन नहीं होता है. जिसके कारण ऑनलाइन वैल्यूएशन को बंद किया जाए. गोल्ड मेडल प्राप्त करनेवाले विद्यार्थियों को किसी भी तरह का रोजगार उपलब्ध नहीं होता है. जिसके कारण विद्यार्थी स्पर्धा परीक्षा की पढ़ाई करते हैं, इसलिए यूनिवर्सिटी का हॉस्टल 12 महीने तक शुरू रखा जाए. यूनिवर्सिटी में लगाए गए वायफाय बंद किए जाएं क्योकि वह जबसे लगाए गए हैं वह तभी से बंद पड़े हैं. संविधान पार्क का निर्माणकार्य अब तक शुरू नहीं किया गया है. 14 अप्रैल से इसका निर्माण कार्य शुरू किया जाए. साथ ही इसके अमरावती रोड स्थित महात्मा फुले शैक्षणिक परिसर कैंपस में महात्मा फुले का स्मारक बनाया जाए. महात्मा फुले परिसर में सेमिनार रूम, राउंड टेबल, कांफ्रेंस रूम बनाया जाए व फोरम हॉल का रेनोवेशन कर बैठक व्यवस्था ठीक की जाए. इन मांगों के लिए विद्यार्थी कृति समिति की ओर से प्रदर्शन किया गया. इस प्रदर्शन में वर्धमान राठोड, प्रमोद कुमार, काव्य चव्हाण, विंकेश तिमांडे, विद्यापीठ विद्यार्थी सचिव दिनेश राठोड, रवि समेत अन्य विद्यार्थी मौजूद थे.