Published On : Fri, Jun 18th, 2021

सफेदपोस माफिया की गिरफ्त में राज्य के बिजलीघर

– ठेका-फर्मों से अवैध वसूली करता है ,महाराष्ट्र शासन व केन्द्र सरकार को शिकायत

नागपुर– ऊर्जा मंत्रालय के वरदहस्त के चलते विद्युत विभाग की तीनों कंपनियां अंतर्गत महानिर्मिती,महावितरण तथा महापारेषण केन्द्रों में अवैध रुपया वसूली के लिए कुख्यात हरदवानी नामक ने अधिकारियों और ठेका फर्मों की नींद हराम कर दिया है। महानिर्मिती बिजली केन्द्रों के दक्ष नागरिकों की ओर से महाराष्ट्र शासन मंत्रालय मुंबई तथा केन्द्र सरकार को प्रस्तुत गोपनीय शिकायत में स्पष्ट किया है कि उक्त कुख्यात नागपुर जिला के कामठी शहर का रहने वाला कथित माफिया हरदवानी शहर के कमाल चौक मार्ग में पर्स व बैग बेचने का धंधा दिखाता है,दुकान के आसपास के कई ब्लॉक इस अवैध धंधे से खरीद रखा हैं। लेकिन वह महानिर्मिती के कई थर्मल पावर प्लांटों तथा कार्यालयों में अवैध रूप से घुसपैठ करता हैं.

Advertisement

बताते हैं कि ऊर्जा मंत्रालय के आशीर्वाद से उक्त कुख्यात का कमीशन वसूली के नाम पर कंपनियों और ठेकेदारों से धोखाधड़ी और ब्लैकमेलिंग धंधा बडे जोरों पर चल रहा है इसलिए यहां कार्यरत सभी छोटे बड़े ई-निविदा धारक ठेकेदारों और कंपनी संचालकों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

Advertisement

पांच साल पूर्व यह जलसंधारण मंत्रालय में मंत्री के शह पर अवैध वसूली का धंधा मे करता था। इस चक्कर में मंत्री परिजनों से जमकर तकरार भी होते रहता था,तब मंत्री से सम्पूर्ण व्यवहार बड़े बड़े क्लबों में करता और करवाता था. वर्तमान में वह थर्मल पावर स्टेशनों, बिजली वितरण केंद्रों और बिजली ट्रांसमिशन विभागों में काम करने वाली ठेका कंपनियों के साइट कार्यालयों में बेख़ौफ़ प्रवेश करता हैं। पूछे जाने पर वह कहता है कि उसे यह जिम्मेदारी किसी मंत्री ने दे रखी हैं. इसके दबाव में न आने वालों को काफी सताया जा रहा हैं.

मंत्री की आड़ में वित्त अधिकारी,कार्यकारी-अभियंता एवं विद्युत स्टेशन के मुख्य अभियंता को गुमराह करते रहता है।जब संबंधित अभियंताओं ने हरद्वानी के कार्यों के बारे में पूछताछ की गई तो सभी ने इस सबंध में चुप्पी साध लेना ही मुनासिब समझा।

हाल ही ऊर्जा मंत्रालय के एक अधिकारी ने अपना नाम प्रकाशित न करने की शर्त पर बताया कि इसके कारनामों से मंत्री को बदनामी भी झेलनी पड़ रही हैं.उन्होंने आगे बताया कि इससे तो तत्कालीन ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले लाख गुना बेहतर थे।हरद्वानी के सक्रियता से मंत्री सह परिजन ने अजीब सी चुप्पी साध रखी हैं लगता हैं कि सम्पूर्ण दाल ही काली हो गई हैं.

इस सबंध में महानिर्मिती बिजली केन्द्रों के दक्ष ठेका श्रमिकों ने महाराष्ट्र शासन, मुंबई और केंद्र सरकार, नई दिल्ली के वरिष्ठ संबंधित अधिकारियों से अनुरोध किया है कि इस अवैध कमीशन वसूली व्यवसाय में शामिल अनावेदक हरदवानी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए अन्यथा कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी तथा राष्ट्राध्यक्ष श्रीमती सोनिया जी गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा के निवास के सामने धरना-प्रदर्शन किया जाएगा। दक्ष नागरिकों द्वारा की गई शिकायतों की प्रतियां रा.का.पा.के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरदचंद्र पवार, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और ग्रह मंत्री दिलीप वडसे पाटील को अग्रेषित किया गया है।

उपरोक्त जानकारी के सबंध में महानिर्मिती बिजली केन्द्रों के ऊर्जा वैज्ञानिकों की तकनीकी सलाह से दक्ष नागरिकों द्वारा शासन को संक्षिप्त रूप मे गोपनीय शिकायतों का ज्ञापन भेजा गया है,उनकी यह भी मांग हैं कि ऊर्जा मंत्रालय की प्रतिष्ठा बचाने हेतु कांग्रेस आलाकमान,एनसीपी सुप्रीमो और राज्य के मुख्यमंत्री ने नए ऊर्जावान को ऊर्जा मंत्रालय का भार सौंपना चाहिए।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement