Published On : Tue, Oct 14th, 2014

नागपुर : उत्तर नागपुर को रहने लायक बनाया


कांग्रेस उम्मीदवार डॉ. नितिन राऊत का कथन

Nitin Raut
नागपुर टुडे।
उत्तर नागपुर को 15 वर्ष पूर्व सभी सबसे गंदा, पिछड़ा और असामाजिक तत्वों का इलाका कहा जाता था, रात में नागरिक उत्तर नागपुर में आने या यहां से गुजरने से डरते थे. उत्तर नागपुर के रहवासी उक्त झंझट से बचने के लिए अन्य शहरों में पलायन करने लगे. ऐसी हालातों से दिल कचोट जाया करता था कि, अब अपनों को अपनों से दूर होता देख रहे थे. यह टिस मुझे अंदर ही अंदर खाए जा रही थी. तब 15 वर्ष पूर्व उत्तर नागपुर के नागरिकों ने उत्तर नागपुर के सर्वांगीण विकास के लिए मुझे अवसर दिया और विगत 15 वर्षो में मैंने दिन-रात मेहनत कर उत्तर नागपुर को नागपुर का सबसे सस्ता, सुलभ रहने योग्य क्षेत्र के रूप में विकसित करने की कोशिश की, जिसमे मुझे जनसहयोग की वजह से बड़ी सफलता मिली. उक्त वक्तवय उत्तर नागपुर से कांग्रेस उम्मीदवार नितिन राऊत ने एक मुलाकात के दौरान व्यक्त किया. राऊत का मानना है कि, वे तो एक जरिया है, असली ताकत तो उत्तर नागपुर के रहवासियों, नागरिकों और मतदाताओं की रही, जिनके दम से कल का उत्तर नागपुर आज नागपुर के विकास का उत्तर बन गया है. विकास का यह आलेख जो बनता गया, संवरता गया, निखरता गया.

नितिन राउत ने कहा कि, देश की पहचान और तत्वज्ञान समाज होता है, इसी समाज की उन्नति के लिए उत्तर नागपुर में 400 समाज भवनों का निर्माण, प्रशस्त महामार्ग, सड़को का डामरीकरण, पथदीप की व्यवस्था, प्रत्येक चौराहे पर हाईमास्ट लाइट्स, उद्यानों, खेल मैदानों, बाजार दुकानें, मॉल्स, दवाखाना, जलकुंभ, जलवाहिनी, सीवर लाइन आदि सुविधाओं के साथ ही परिवहन कार्यालय (आर.टी.ओ), राशनिंग कार्यालय, ग्रामीण पुलिस मुख्यालय, बाल सुधार गृह आदि शासकीय कार्यालयों की स्थापना उत्तर नागपुर में करवाई गई.

राऊत ने बताया कि, वैशाली नगर में डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर बगीचा, लष्करीबाग में डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर स्मृति स्तंभ, 10 नंबर पुलिया समीप डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर मराठवाड़ा विद्यापीठ नामांतर शहीद स्मारक, लष्करीबाग में डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर मिशन सभागृह, डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर सांस्कृतिक भवन, ठवरे कॉलोनी में कामगार कल्याण केंद्र, बैरिष्टर राजाभाऊ खोब्रागड़े सभागृह, इस्लामिक कल्चरल सेंटर, बाजीराव साखरे वाचनालय, जरीपटका में अनुसूचित जाति और बौद्ध विद्यार्थियों के लिए आईटीआई, जरीपटका और यशोधरा नगर पुलिस स्टेशन की स्थापना सह निर्मिति, जरीपटका में झूलेलाल सेंटर, सिद्धार्थ नगर में शादीखाना, ऑटोमोटिव चौक समीप गुरुगोविन्द सिंह स्टेडियम, जरीपटका में वेकोलि अस्पताल, सहयोग नगर में कर्मवीर बाबू हरिदास आवले स्मारक, नारी में अन्नाभाऊ साठे स्मारक, बिनाकी में वैशाली स्विमिंग पूल, नारी में छात्रों के लिए शासकीय निवासी तंत्रनिकेतन, 500 लड़के-लड़कियों का हॉस्टल,मनकापुर चौक से ऑटोमोटिव चौक तक के रिंग रोड का पुनर्निर्माण, नागपुर-जबलपुर राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक 7 का कामठी तक के मार्ग का पुनर्निर्माण, 7 बड़े रेलवे उड़ानपुल का निर्माण आदि विकासकार्यों का समावेश है.

राऊत ने विशेष उल्लेख करते हुए कहा कि आने वाले कल को नागपुर को दीक्षाभूमि के साथ-साथ विश्व प्रसिद्ध बुद्धिस्ट थीम पार्क से भी जाना-पहचाना जायेगा. इसी उपक्रम का बतौर हिस्सा फुटाला तालाब को वर्ष 2005 में नासुप्र ने विकसित किया. हाल ही में 113 करोड़ रूपए की लगत से अत्याधुनिक सुविधाओं वाला डॉक्टर बाबासाहेब आंबेडकर नॉलेज सेंटर का निर्माण कामठी रोड पर जारी है.उत्तर नागपुर की सामान्य जनता के स्वास्थ्य हेतु 257.52 करोड़ की लागत से डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर रुग्णालय व अनुसंधान केंद्र का निर्णय कांग्रेस आघाडी सरकार ने लिया. चिचोली स्थित शांतिवन में, जहाँ बाबासाहेब के पोशाख, टाइपराइटर, बुद्ध मूर्ति, चश्मा, लकड़ी, पेन, पादत्राण, टोपी, हस्तलिखित मूल्यवान और समाज की धरोहर की सँभालने हेतु 40 करोड़ की राशि डॉक्टर बाबासाहेब आंबेडकर स्मृति संग्रहालय की उपलब्ध करवाई की गई. डॉक्टर भदंत आनंद कौसल्यायन निर्मिति बुद्ध भूमि के लिए 10 करोड़ रूपए और त्रैलोक्य महासंघ निर्मिति नागलोक परिसर के विकास हेतु 10 करोड़ रूपए का प्रावधान सरकार से करवाया. नितिन राऊत ने बताया कि सहयोग नगर परिसर में 6 एकड़ जमीन में 1.5 करोड़ की लागत से राष्ट्रीय स्तर का आधुनिक सीनियर सिटिज़न सेंटर का निर्माण जारी है. उत्तर नागपुर के सभी धार्मिक परिसरों में 2.30 करोड़ की मदद से फ़िल्टर के साथ वाटर कूलर और हाईमास्ट लाइट लगाने का कार्य जारी है.

राऊत ने उत्तर नागपुर की मतदाताओं से यह आवाहन किया है कि, आज उत्तर नागपुर में जो कुछ भी है, वह आपका है. जो विकास है वो आपका है. आपकी सोच वो ही मेरा इरादा है. प्रिय मतदाताओं के इरादों को हक़ीक़त में बदले और फिर से उत्तर नागपुर की सेवा में लीन हो जाये. आजतक आप मेरे साथ चले है, चलो इस बार मुकाम तक पहुंचे, सपनों का उत्तर नागपुर हक़ीक़त में बदले. इसलिए पुनः मतदाताओं से नम्र निवेदन है, कि अपना बहुमूल्य मत मेरे पक्ष में देकर मुझे अनुग्रहित करे.