Published On : Wed, Feb 25th, 2015

रिसोड : दुर्लभ मांडुल जाती के सांप को सर्पमित्र ने दिया जीवनदान


सर्पमित्र अनंता देशमुख ने सांप को किया वनाधिकारियों के हवाले

Snake
रिसोड (वाशीम)
। रिसोड के सर्पमित्र तथा गृह रक्षक सेवक अनंता देशमुख ने दुनिया का दुर्लभ दो मुंह वाला मांडुल जाती के सांप को जीवनदान देकर वनाधिकारियों के हवाले किया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार सर्पमित्र के नाम से तालुका में मशहूर गृह रक्षक दल के सेवक अनंता देशमुख ये रिसोड में घोंसर रास्ते से नगर परिषद की कचरा गाडी लेकर जा रहे थे. रास्ते के किनारे चार-पाच व्यक्ती कुछ देख रहे थे. अपनी कचरे की गाडी रोककर देखा तो वहां दो मुंह वाला मांडुल जाती का सांप दिखाई दिया. उक्त व्यक्तियों को  जानकारी देकर उसे मारने से मना किया गया. ये सांप किसानों का मित्र है और दुर्लभ है. इसे मारने से यह जाती नष्ट होगी. देशमुख ने उस सांप को पकडकर एक प्लास्टिक के गड्ढे किये बरनी में डाला. और रिसोड पुलिस स्टेशन पहुंचे.

थानेदार सुरेशकुमार राउत को इसबारे मे जानकारी दी गई. इस सांप को वनाधिकारियों के हवाले करने के लिए मदद ली. थानेदार ने बिना देर किये एपीआय विजय रत्नपारखी को वाहन लेकर वनाधिकारियों के पास भेजा. उसके बाद यह सांप यहां के वनउद्यान वन अधिकारी विष्णु भोसले और एच.व्ही साठे के हवाले कर दिया गया. इस दौरान पुलिस कर्मचारी सुरेश सरनाईक ज्ञानदेव उगले, गणेश कोकाटे, आरती काले, पत्रकार संतोष गोमाशे, संतोष चर्हाटे, विजय इंगोले उपस्थित थे.