Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Wed, Dec 26th, 2018

    सीताबर्डी का मोदी नंबर 3 अतिक्रमण की चपेट में

    नागपुर: सीताबर्डी के व्यस्त इलाकों में से एक मोदी नंबर 3 भी अब अतिक्रमण की भेंट चढ़ गया है. यहां पर पहले ही होटल के चलते आने-जाने वालों से मार्ग काफी अस्त-व्यस्त रहता है. ऊपर से आसपास के दूकानदारों द्वारा दूकान से बाहर लगेज के साथ अन्य सामान रखकर अतिक्रमण किये जाने से स्थिति बद् से बद्तर होती जा रही है. इसके चलते आसपास के लोगों के साथ आने-जाने वालों को काफी तकलीफों का सामना करना पड़ रहा है.

    सीताबर्डी मुख्य मार्केट होने से यहां खरीदी करने वालों की भीड़ रोज ही लगी रहती है. इसमें लोग भीड़ से बचने और मार्केट से बाहर निकलने के लिए यहां की गलियों का सहारा लेते हैं, लेकिन इन तंग गलियों में भी अतिक्रमणकारियों ने पूरी सड़क को घेर रखा है. दूकानदारों ने फुटपाथों को भी अपनी दूकान समझकर कब्जा जमा लिया है. प्रशासन का कोई ध्यान नहीं होने के चलते यहां के अतिक्रमणकारियों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं. अतिक्रमण उन्मूलन दस्ता बाहर ही बाहर अपनी कार्रवाई कर इतिश्री कर लेता है, लेकिन वह यहां के दूकानदारों द्वारा फैलाये जा रहे अतिक्रमण को लेकर चुप्पी साधे हुए है.

    दूकान के बाहर फेंक देते कचरा
    अतिक्रमण करने के साथ ही दूकानदारों द्वारा कचरा भी दूसरे के घरों के गेट के सामने डाला जाता है, जिसके चलते यहां रहने वालों को इनकी ज्यादती का शिकार होना पड़ रहा है. प्रशासन से शिकायत करने के बावजूद उनकी समस्या हल नहीं हो पा रही है. दूकानों में आने वाले वाहनों की पार्किंग भी सड़क पर होने के चलते बहुत अधिक दिक्कतें होती हैं. कई बार आसपास के लोगों ने दूकानदारों को समझाया, लेकिन यहां के दूकानदार किसी तरह से कुछ समझना नहीं चाहते. उल्टा दूकानदारों द्वारा ही लोगों को भला बुरा कहा जाता है. इस तरह के व्यवहार से यहां आने वालों के साथ आसपास रहने वाले भी लोग भी इनसे परेशान हो चुके हैं.

    प्रशासन की उदासीनता
    यहां के अतिक्रमण को लेकर अतिक्रमण उन्मूलन दस्ता उदासीन बना हुआ है. क्षेत्र के नागरिकों ने प्रशासन से इन अतिक्रमणकारियों पर कार्रवाई करते हुए मोदी नंबर 3 को अतिक्रमण मुक्त करने की मांग की है.


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145