Published On : Sat, Apr 18th, 2015

सारखणी : सिंदखेड थाने के थानेदार ने मुख्य आरोपी को छोड दिया


सेवानिवृत्त शिक्षक को मारपीट करने का मामला

अन्यायग्रस्त परिवार की पुलिस अधीक्षक की ओर दौड

Pundalik in Hospital
सारखणी (नांदेड)। किनवट तालुका के सारखणी के सेवानिवृत्त शिक्षक पुंडलिक पेटकुले पर जानलेवा हमला करने वाले आरोपी से मिली भगत करके सिंदखेड पुलिस थाने के थानेदार प्रवीण दिनकर ने इस प्रकरण के आरोपींयों को पकडकर शाम को छोड़ दिया. उनको सहआरोपी किया जाए ऐसी मांग अन्यायग्रस्त परिवार ने जिला पुलीस अधीक्षक परमजीत सिंह दहिया की ओर की.

प्राप्त जानकारी के अनुसार सारखणी में 5 अप्रैल को पुंडलिक पेटकुले पर चार लोगों ने मामुली कारण से हमला किया. इस हमले में लोहे की सलाख, चाकू, कुल्हाडी, पाईप और अन्य चीजों का इस्तेमाल करके पुंडलिक को गंभीर जख्मी किया था. उनकी हालत गंभीर होने से उनका यवतमाल जिले के पुसद ले अस्पताल में उपचार शुरू है. इस प्रकरण में सिंदखेड पुलिस थाने में आरोपी वच्छलाबाई माधव भरकड और अन्य तीन लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया था. लेकिन सिंदखेड पुलिस थाने के थानेदार प्रवीण दिनकर आरोपी वच्छलाबाई माधव भरकड महिला को पुलिस थाने लाकर छोड दिया. तथा अन्य दो आरोपींयों को हिरासत में लिया तथा एक आरोपी आजाद है, ऐसा ज्ञापन में कहां गया है.

थानेदार दिनकर ने फरयादी के पत्नी को वाहन में बिठाकर आरोपी के गांव कमठाला में रात के समय महिला कर्मचारी नही होते हुए लेकर गए. ऐसा आरोप भी किया गया है. आरोपी और थानेदार में मिलीभगत होने से जान से मारने का प्रयास करने से मामला अलग मोड पर आ गया है. अमोल पेटकुले ने 8 अप्रैल को उपविभागीय पुलिस अधिकारी को पीड़ित परिवार ने आरोपी को मदद करनेवाले थानेदार प्रवीण दिनकर पर कार्रवाई करने की लिखित शिकायत की थी. लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नही होने से उपविभागीय पुलिस अधिकारी दत्तात्रय कांबले थानेदार प्रवीण दिनकर का बचाव कर रहे है क्या? ऐसा प्रश्न निर्माण हुआ है. इसलिए अन्यायग्रस्त परिवार ने सीधा जिला पुलिस अधीक्षक परमजीत सिंह दहिया से मुलाकात करके बात बताई.

महिला पर हुए अन्याय के विरुद्ध महिला आयोग की ओर पीड़ित परिवार ने न्याय की मांग पत्र द्वारा की. इस परिवार से पुलिस अधिक्षक ने मुलाकात करके आरोपी को गिरफ्तार कर और थानेदार को भी सहआरोपी करे ऐसी मांग की है. पुलिस अधिक्षक इस परिवार को न्याय देने के लिए क्या कार्रवाई करते है इसकी ओर सभी का ध्यान लगा पड़ा है.