Published On : Tue, Dec 19th, 2017

शिवसेना के विधायको ने अपनी ही सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा

Shiv Sena
नागपुर: शिवसेना के विधायको ने अपनी ही सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है, शिवसेना के विधायक हाथों में बैनर लिए हुए विधान भवन की सीढ़ियों पर प्रदर्शन करते नजर आए। शिवसेना के विधायकों ने सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार उनकी बातों को सुन नहीं रही। कई बार विधानसभा में मुद्दे उठाने के बाद भी उस पर अमल नहीं किया जाता। लोगों तक बात पहुंचाने के लिए कि उनकी सरकार में ही उनके काम नहीं हो रहे हैं इसलिए वह विधान भवन की सीढ़ियों पर बैठकर प्रदर्शन कर रहे हैं।

विधायकों का कहना है किसी एक समस्या को लेकर नहीं हर मांगों के ऊपर सरकार का नजरिया काफी नकरात्मक रह रहा है। उल्लासनगर का उदाहरण देते हुए इन विधायकों ने कहा कि कई बार यहां की समस्याओं को उन्होंने विधान भवन में उठाया। लेकिन अब तक उन समस्याओं का समाधान नहीं किया गया। शिवसेना के विधायकों ने कहा कि उल्लासनगर में रिंग रोड का कार्य चल रहा है। यह रिंग रोड उन क्षेत्रों से लेकर जाया जा रहा है जहां पर बस्तियां है, स्कूल है, जिस वजह से 200000 लोग बेघर हो रहे हैं। इन क्षेत्रों में सरकार ने ग्रीन जोन घोषित कर दिया है। खाली जमीनों को उन्होंने बिल्डरों को दे दिया है ।

कब्रिस्तान बनाने का प्रपोजल उन लोगों ने स्कूल एवं बस्ती में दिया है, विधायकों का कहना है ईस तरह के मुद्दे उन लोगों ने 10 बार विधानसभा में रखा। मुख्यमंत्री से मिले। लेकिन इस पर निर्णय नहीं हुआ । विधायकों ने कहा कि गरीबों का भी तो सरकार को सुनना चाहिए, यहां तक कि उल्लासनगर में BJP की महानगरपालिका भी विरोध कर रही है। डॉ बालाजी किणीकर ने कहा कि गरीबों पर अन्याय होगा तो उसके खिलाफ शिवसेना हर जगह विरोध करेगी, चाहे वह विधान भवन हो। या विधान परिषद,सरकार का ध्यान गरीबों की तरफ नहीं है। उल्लासनगर का एक उदाहरण है हर जगह के सरकार इस नीति से काम कर रही है।