Published On : Tue, Sep 30th, 2014

भाजपा को झटका : सावनेर उम्मीदवार सोनबा मुसले का नामांकन रद्द , रामटेक के रेड्डी का फैसला आज 3 बजे तक


Sonba Musle & D.M. Reddy
नागपुर टुडे
: सावनेर सह रामटेक विधानसभा के चुनाव निर्णय अधिकारियों ने सावनेर विस के मालेगांव निवासी मनीष मोहोड़ की शिकायत पर भाजपा प्रत्याशी सोनबा मुसले की उम्मीदवारी रद्द कर दी है. मुसले पर मोहोड़ द्वारा लगाए गए आरोप प्रथम दृश्ट्या सही पाए गए हैं. इधर रामटेक के शिवसेना प्रत्याशी आशीष जैस्वाल की शिकायत पर भाजपा प्रत्याशी मल्लिकार्जुन रेड्डी के खिलाफ भी जांच की जा रही है जिसका फैसला मंगलवार दोपहर तक आने की संभावना है. इस फैसले के बाद मुसले उच्च न्यायालय की शरण में चले गए हैं ,जिसपर शाम तक निर्णय होने की सूचना प्राप्त हुई है.इस निर्णय से भाजपा को गहरा धक्का लगाना लाजमी है.

ज्ञात हो कि शिवसेना से युति तोडकर छोटे दलों के साथ चुनावी मैदान में कूदी भारतीय जनता पार्टी जिले में भारी संकट में फंस गई है. सरकारी ठेके लेने के कारण पार्टी के सावनेर के प्रत्याशी सोनबा मुसले और रामटेक के मल्लिकार्जुन रेड्डी के नामांकन पर अन्य प्रत्याशियों की आपत्ति के बाद उनके चुनाव लड़ने पर सवाल खड़ा हो गया था चुनाव निर्णय अधिकारी ने दोनों का पक्ष जानकर फैसला आज सुनाई.

मालेगांव निवासी मनीष मोहोड ने सोनबा मुसले के नामांकन पर आपत्ति दर्ज की थी . उनका कहना है कि मुसले कन्स्ट्रक्शन के हिस्सेदार है. उनकी कंपनी सरकारी कार्यों के ठेके लेती है. इस आपत्ति पर चुनाव अधिकारी विनोद हरकंडे ने मुसले को शाम पांच बजे तक लिखित स्पष्टीकरण देने को कहा. इसके बाद मुसले का पक्ष जानकर हरकंडे ने कहा कि वे जांच कर आज 30 सितम्बर 2014 की सुबह फैसला सुनाएंगे. इस दौरान दोनों पक्षों के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में मौजूद थे. किसी भी अनुचित घटना को रोकने के लिए भारी पुलिस बंदोबस्त तैनात किया गया था.

तो दूसरी ओर रामटेक से भाजपा प्रत्याशी डी. मल्लिकार्जुन रेड्डी के खिलाफ शिवसेना के उम्मीदवार आशीष जायस्वाल और गोंडवाना गणतंत्र पार्टी की रानी राजश्रीदेवी बुलंदशाह ने आपत्ति दर्ज की है. आपत्ति में कहा गया है कि सरकार से लाभ लेने वाले चुनाव नहीं लड सकते. रेड्डी सरकारी ठेके लेते हैं ऐसे में उनका नामांकन खारिज होना चाहिए. रेड्डी ने अपना पक्ष लिखित रूप से चुनाव अधिकारी को सौंपा है. लेकिन चुनाव अधिकारी शेखर सिंह ने इस पर फैसले आज ३० सितम्बर को करने सम्बन्धी जानकारी दी थी .

इस संदर्भ में रेड्डी का कहना था कि वे कुछ दिनों पहले अपने प्रतिष्ठान आरबीसी से सेवानिवत्त हो चुके हैं. उनके पास इस संदर्भ में प्रमाणपत्र भी है जिसे वे चुनाव अधिकारी के सुपुर्द कर चुके हैं.

उल्लेखनीय यह है कि भाजपा प्रत्याशी मुसले और रेड्डी को अपना नामांकन रद्द होने की खबर लगते ही ,दोनों उच्च न्यायालय शरण में गए ,आज शाम तक न्यायायला का निर्णय लगने की उम्मीद है.फ़िलहाल उक्त निर्णय से भाजपा को गहरा झटका लगा है और सावनेर के कांग्रेस प्रत्याशी और रामटेक के सेना प्रत्याशी समर्थको में उत्साह देखते ही बनती है.

-राजीव रंजन कुशवाहा

pic6
pic7
pic8
pic1
pic2
pic3
pic4
pic5