Published On : Wed, Dec 5th, 2018

जनहित कार्यों के लिए भाजपा पिछले ५ वर्षों से सक्रिय – जोशी

विरोधी आगामी चुनावों से जोड़ रहे

नागपुर: भाजपा २४ बाय ७ काम करने वाली पार्टी है. पिछले ५ वर्षों से लगातार जनउपयोगी उपक्रम चलाए जा रहे हैं. विरोधियों द्वारा अब इसे आगामी लोकसभा और उसके बाद होनेवाले विधानसभा चुनाव से जोड़ा जा रहा है. अगर जनता दरबार के माध्यम से जनता की समस्याएं दूर हो रही हो तो जनता दरबार के आयोजन में कोई हर्ज नहीं. यह बयान मनपा में सत्तापक्ष नेता और राज्य के लघु उद्योग महामंडल के अध्यक्ष संदीप जोशी ने दिया.

उन्होंने कहा कि खेल-सांस्कृतिक आयोजनों से खिलाड़ी-कलाकार व इच्छुक दर्शकों का लाभ हो रहा हो तो उक्त प्रकार के उपक्रम के आयोजन में कोई हर्ज नहीं होना चाहिए.

याद रहे कि नागपुर मनपा की राजनीति में जोशी पिछले १७ वर्षों से सक्रिय हैं. जोशी एकमात्र नगरसेवक रहे जो लगातार दो वर्ष स्थाई समिति के सभापति रहे. वर्तमान में मनपा में सत्तापक्ष नेता होने के साथ ही साथ हाल ही में राज्य लघु उद्योग महामंडल के अध्यक्ष नियुक्त किए गए.

भविष्य में दक्षिण-पश्चिम विस क्षेत्र से अगला विधानसभा चुनाव लड़ने के सवाल जवाब में जोशी ने कहा कि राजनीति में कुछ स्थाई नहीं होता कह कर जनाब देने से टाल गए. लेकिन कहा कि अगर पार्टी उम्मीदवारी देगी तो अवश्य लड़ेंगे.


इसके पूर्व जब उन्हें महामंडल का अध्यक्ष पद घोषित किया गया था तब उन्होंने देर से मिले पद के सवाल पर कहा था कि राजनीति में आनाकानी ठीक नहीं, जो मिलता है, स्वीकारते चलो.

पिछले दिनों नागपुर टुडे ने एक लेख प्रकाशित किया था कि मुख्यमंत्री दक्षिण-पश्चिम विस क्षेत्र के बजाय पश्चिम विस क्षेत्र से आगामी चुनाव लड़ सकते हैं. या फिर केंद्र की राजनीत में सक्रिय होने के लिए लोस या रास जा सकते हैं. ऐसे में दक्षिण-पश्चिम विस क्षेत्र से संदीप जोशी को विस चुनाव लड़ाया जा सकता है.

इस सवाल पर जोशी का कहना था कि वे पिछले एक दशक से दक्षिण-पश्चिम विस का अमूमन सभी कार्य संभाल रहे हैं. सोनेगांव तालाब स्वच्छ किया, जनता-दरबार लिया, विशाल स्वास्थ्य शिविर का आयोजन कराया. दीनदयाल थाली की दो जगह शुरुआत भी की. मुख्यमंत्री की व्यवस्तता के कारण मुझे दक्षिण-पश्चिम पालक प्रतिनिधि की जिम्मेदारी दी गई थी. जोशी ने अपने ध्यये का खुलासा करते हुए कहा कि उनका काम काम करते रहना है, पार्टी किसे उम्मीदवारी देती ,यह पर्टी का अधिकार है.