Published On : Thu, Jun 8th, 2017

संत कबीर का 619वां ज्योति प्रकाश प्रगट दिवस मनाया


नागपुर
 : सदगुरु कबीर साहब का 619वां ज्योति प्रकाश प्रगट दिवस एवं पूज्य साधक महंत होरिदास साहेब की 35वीं पुण्यतिथि हर्षोलाश के साथ सुरेंद्रगढ़ बजरंग चौक सेमिनरी हिल्स में देवेन्द्र बाबुदास जैसवाल के सौजन्य से मनाई गई. इस पावन अवसर की शुरुवात गुरु महिमा पाठ के द्वारा की गई. इसके बाद सदगुरु कबीर भजन मंडल धरमपेठ द्वारा सदगुरु संत कबीर की अमृत वाणियों को भजन के रूप में प्रस्तुत किया गया. जिसमें झरिया, मोहन पटेल लाल ने सुंदर भजन प्रस्तुत किया. मध्यप्रदेश के विदिशा से आए प्रिया कबीरपंथी एवं उनकी साथी शालिनी भगत एवं शिवानी भगत द्वारा गाए भजनों का भक्तों ने आनंद लिया. भजनों के उपरांत छत्तीसगढ़ से आए संत फत्तू साहब ने संगीतमयी प्रवचन कर संत कबीर के जीवन चरित्र के बारे में लोगों को अवगत कराया.

संत यतीन्द्र दास साहेब ने इस दौरान कार्यक्रम में प्रवचन देते हुए कहा की अपने भीतर में बसने वाले कबीर को पहचानों, सदगुरु कबीर धर्मदास साहब प्रतिनिधि सभा(दामाखेड़ा) की शाखा समिति (गुजरखेडी) सावनेर के सचिव संपतदास व डॉ.प्रवीन बोडी ने सदगुरु कबीर की वाणी को अपने शब्दों में संबोधित किया. बाबुदास साहब ने सत्यनाम की महिमा को “नाम जप मन नाम जप मन बावरे” भजन के माध्यम से एवं उसका भावार्थ अपने शब्दों में भक्तों के सामने रखा, तो वही मसकरे ने सुरती शब्द योग, ज्ञान गुधड़ी पर प्रकाश डाला.

इस अवसर पर पश्चिम नागपुर के विधायक सुधाकर देशमुख, महानगर पालिका के स्थायी समिति अध्यक्ष संदीप जाधव, किशन गावंडे, राजेश्वर सिंह, सेमिनरी हिल्स नागपुर कबीर मंदिर के अध्यक्ष घनश्याम भगत, मंदिर के सचिव नंदकिशोर भगत, जयकिशन भगत, कुंजीलाल साहू, दिनेश साहू, प्रशांत धावड़े प्रमुख रूप से उपस्तिथ थे. कार्यक्रम को सफल बनाने में अमित आड़े, निलेश धावडे, सूरज बिनकर, अभिलाष कुर्यवंशी, राहुल भगत, शुभम सूर्यवंशी, रोहन भगत, शैलेन्द्र सूर्यवंशी, देवराव पाचे, शैलेन्द्र आम्भोरकर का योगदान रहा.