Published On : Sat, Jan 13th, 2018

१८ जनवरी २०१८ को साईभक्त ले सकेंगे शिर्डी के “चर्म चरण पादुकां” का दर्शन


नागपुर: विदर्भ के प्रति शिर्डी अर्थात वर्धा रोड के सुप्रसिद्ध साई मंदिर में ४१ साल बाद १८ जनवरी २०१८ को शिर्डी के साईबाबा के पवित्र ‘चर्म चरण पादुकां’ का दर्शन साईभक्त ले सकेंगे. १ अक्टूबर २०१७ से १८ अक्टूबर २०१८ तक साईबाबा की समाधि शताब्दी वर्ष के अवसर पर ये कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है.

श्री. साईबाबा संस्थान विश्वस्थ व्यवस्था, शिर्डी के सहकार्य से श्री. साईबाबा सेवा मंडल, श्री.साई मंदिर, विवेकानंद नगर,नागपुर ने दि.१८ जनवरी २०१८ के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया है. साईबाबा मंदिर के दैनिक कार्यक्रम की तरह सुबह ५.१५ बजे के काकड़ आरती के बाद भक्त पादुकां का दर्शन ले सकेंगे. १८ जनवरी २०१८ को आखरी व्यक्ति का दर्शन होने तक पादुकां का दर्शन ले सकते है. साईं मंदिर के पीछे स्थित गजानन महाराज मंदिर और राम मंदिर मैदान में पार्किंग की व्यवस्था की गई है. दर्शन सुलभता से बनाने के लिए २०० से अधिक स्वयंसेवक इस क्षेत्र में उपस्थित रहेंगे. इस उत्सव के लिए महानगर पालिका और पुलिस प्रशासन को सूचित किया गया है. तथा अनुमति ली गई है.

सुबह ६.४५ बजे प.पु.आचार्य, श्रीनाथ पीठाधीश्वर स्वामी श्री. जितेंद्र महाराज, श्री. क्षेत्र जिल्हा अंजनगांव सुर्जी इनके शुभहस्ते ध्वजरोहण समारोह मनाया जाएगा. इस वक्त श्री. विजयबाबा कोंद्रा, संस्थापक अध्यक्ष श्री. साईबाबा सेवा मंडल, वर्धा रोड, नागपुर उपस्थित रहेंगे.सुबह ७ बजे शिर्डी के पुजारियों के हस्ते श्री. साईबाबा पादुकां का पूजन किया जाएगा. सुबह ११ बजे डॉ. सुरेश हावरे, अध्यक्ष श्री. साईबाबा संस्थान विश्वस्थ व्यवस्था शिर्डी इनके हस्ते रक्तदान शिबिर का आरंभ होगा. इस आयोजन में भव्य बूंदी महाप्रसाद का वितरण किया जाएगा.


साईबाबा मंदिर द्वारा इस साल विभिन्न उपक्रम का आयोजन किया जाएगा. आस-पास के परिसर में जगह ले कर मंदिर व्यवस्थापन जल्द ही सामाजिक जिम्मेदारी के साथ नि: शुल्क अस्पताल,लडकियों को स्वयंनिर्भर बनाने के लिए मुफ्त टेलरिंग प्रशिक्षण आदि योजनाए कार्यान्वित की जाएगी. मंदिर के सामने के परिसर में पक्का शेड बनाने की योजना है. इस से गर्मी और बारिश में भक्तों की व्यवस्था होगी. साईबाबा की मेज और आस पास के क्षेत्र में सोने का मुलामा चढाने के लिए भक्तों को बिनती की जा रही है. यह कार्य प्रतिक्रिया के अनुसार किया जाएगा. साईबाबा की १०० वीं पुण्यतिथि अन्य साईं मंदिरों की मदद से उत्साह में मनाने का मानस है. मंदिर परिसर की ९ दुकानों की एक श्रृंखला बनाई जाएगी तथा शेष परिसर खाली कर के भीड़ का नियोजन किया जाएगा. ऐसी जानकारी, श्री. साईबाबा सेवा मंडल सचिव अविनाश शेगांवकर ने दि है.