Published On : Sat, Mar 27th, 2021

अभिषेक के लिये मंदिरों में दिया केसर दान

जैन धर्म में पंचामृत अभिषेक का महत्व

नागपुर : अखिल भारतीय पुलक जन चेतना मंच और राष्ट्रीय जैन महिला जागृति मंच शाखा महावीर वार्ड नागपुर द्वारा होली के पर्व पर शनिवार को नागपुर के दिगंबर जैन मंदिरों में भगवान के अभिषेक के लिये केसर भेट दिया गया. भारत गौरव राष्ट्रसंत पुलकसागरजी गुरुदेव के प्रेरणा, आशीर्वाद और निर्देश से होली के दिन तीर्थंकर भगवान का अभिषेक केसर से होना चाहिये इसलिये केसर भेट दिया गया. जैन धर्म में पंचामृत अभिषेक का विशेष महत्व हैं.

होली के दिन जगह जगह रंगों की होली होती हैं इसलिये हमारे आराध्य तीर्थंकरों का अभिषेक केसर से होना चाहिये यह संदेश आचार्य भगवंत पुलकसागरजी गुरुदेव ने पुलक मंच परिवार के सभी शाखाओं को दिया हैं. प्रदीप तुपकर, नरेश मचाले, प्रकाश उदापुरकर, अतुल महात्मे, महेंद्र शेठ, कल्पना सावलकर, सचिन नखाते, प्रतिभा नखाते, वेद नखाते, श्रीकांत धोपाडे, प्रणिता बोबडे, अल्का बिबे, कुशल मंगेश बिबे, डॉ.चंद्रनाथ भागवतकर के सहयोग से पुलक मंच परिवार के राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष मनोज बंड के मार्गदर्शन में श्री. पार्श्वप्रभु दिगंबर सैतवाल जैन मंदिर संस्था इतवारी, श्री. दिगंबर जैन सेनगण मंदिर लाडपुरा इतवारी, श्री. पार्श्वप्रभु दिगंबर जैन मोठे मंदिर इतवारी, श्री. महावीर दिगंबर जैन मंदिर महावीरनगर, श्री. अजितनाथ दिगंबर जैन मंदिर केलीबाग रोड महल, श्री. शीतलनाथ दिगंबर जैन मंदिर ग्रेट नाग रोड, श्री. पार्श्वनाथ दिगंबर जैन खंडेलवाल मंदिर जूनी शुक्रवारी, श्री. चंद्रप्रभु दिगंबर जैन मंदिर बाहुबलीनगर, श्री. आदिनाथ दिगंबर जैन मंदिर अंबानगर आदि मंदिरों को भेट दिया गया.

दिलीप शिवणकर, दिलीप राखे, शरद मचाले, सतीश जैन पेंढारी, रमेश उदेपुरकर, नरेश मचाले, प्रशांत सवाने, प्रभाकर डाखोरे, कुलभूषण डहाले, प्रकाश उदापुरकर, अनंतराव शिवणकर, उदय जैन गहाणकरी, प्रकाश बोहरा, राजेन्द्र बंड, किशोर मेंढे, महेन्द्र सिंघवी, शांतिलाल जैन, नितिन रोहणे, अमोल भुसारी, अतुल महात्मे आदि उपस्थित थे.