Published On : Tue, Nov 24th, 2020

RT-PCR कोरोना टेस्ट की सभी राज्यों में 400 रुपये हो कीमत, सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को भेजा नोटिस

नागपुर– देश में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रही है. इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना वायरस की जांच के लिए RT-PCR टेस्ट की दर तय करने के लिए केंद्र, राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों को नोटिस जारी किया है. दरअसल, एक याचिका में कहा गया था कि देश में RT-PCR टेस्ट की कीमत 400 रुपये तय की जाए. इससे लोगों को फायदा मिलेगा और ज्यादा कोरोना जांच भी की जाएंगी. इस मामले में अब सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करते हुए नोटिस जारी कर दो हफ्तों में जवाब मांगा है.

देश में कोरोना वायरस की जांच के लिए RT-PCR टेस्ट किया जाता है. कोरोना संक्रमण का पता लगाने के लिए किए जाने वाले इस टेस्ट के नतीजे को काफी सटीक माना गया है. हालांकि पूरे देश में किए जा रहे इस टेस्ट की कीमत हर जगह पर अलग-अलग है. इसके मद्देनजर एक याचिका दाखिल की गई थी. जिस पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई है.

400 रुपये रखी जाए कीमत
कोरोना के RT-PCR टेस्ट की कीमत पूरे देश में एक समान करने की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई की गई. याचिका में कहा गया है कि अलग-अलग राज्यों में इस टेस्ट की कीमत 800 रुपये से लेकर 2800 रुपये तक है. टेस्ट लैब लोगों को लूट रहे हैं. यह कीमत 400 रुपये तक ही रखी जानी चाहिए.

कीमत कम करने की दरकार
वकील अजय अग्रवाल की ओर से RT-PCR की कीमत पूरे देश में एक समान करने वाली याचिका दायर की गई है. याचिका में कहा गया है कि कोरोना वायरस के लिए होने वाले टेस्ट RT-PCR की कीमत देश में अलग-अलग है. देश में कोरोना टेस्टिंग की समान कीमत तय किए जाने की जरूरत है. कम कीमत होने पर लोग ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग करा सकेंगे.

RT-PCR मोबाइल टेस्टिंग वैन
राजधानी दिल्ली में कोरोना के चलते बिगड़े हालत के बाद केंद्र सरकार एक्शन में आई है. केंद्र सरकार ने कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने की दिशा में एक और बड़ी पहल की. इसके तहत दिल्लीवासी मुफ्त में RT-PCR टेस्ट करा सकेंगे. इसके लिए हाल ही में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने नई दिल्ली स्थित इंडियन मेडिकल काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) मुख्यालय में मोबाइल लैब्स का उद्घाटन किया है. इसके जरिए दिल्ली में मोबाइल वैन के जरिए कोविड-19 टेस्ट करवाया जा सकेगा.