Published On : Tue, Nov 24th, 2020

शिवकृष्ण धाम मुख्य मार्ग पर कचरों का अम्बार

– मंगलवारी जोन स्वास्थ्य विभाग प्रमुख बोकारे,वार्ड अधिकारी हरीश राऊत का ध्यानाकर्षण करवाने के बावजूद उनके कानों पर जूं नहीं रेंग रही

नागपुर : मनपा की मंगलवारी जोन क्षेत्रों से रोजाना कचरा संकलन नहीं किया जाता।ज़ोन अंतर्गत प्रमुख नागरिकों को खुश करने के लिए उनके आसपास नियमित साफ़-सफाई की जा रही.शेष को क्षेत्र साफ़-सफाई करवाने के एवज में और जोन के ठेकेदार कंपनी को मनमाफिक बिल बनाने के लिए बोकारे मंडली का मासिक जेब गर्म करना ही पड़ता हैं.

इसकी अनेकों शिकायत के बावजूद बोकारे का मंगलवारी ज़ोन में वर्षो से कायम रहना भी प्रशासन की असफलता मानी जा रही.कल सुबह-सुबह कोराडी रोड स्थित शिवकृष्ण धाम में महीनों से कचरा संकलन नहीं हुआ,इसकी जानकारी देने के बावजूद समाचार लिखे जाने तक पूर्ण-रूपेण साफ़-सफाई नहीं की गई.

धाम परिसर में जब-जब शिकायत की जाती हैं,तब-तब ही साफ़-सफाई होती हैं.फिर चाहे कितनी भी शिकायत आला अधिकारियों से कर दिया जाए.इनका एक ही स्थाई जवाब हैं कि आदमी नहीं और या फिर कचरा न उठाने पर जुर्माना लगाया जा रहा.

जबकि इस ज़ोन अंतर्गत जेब ढीली करने वाले के क्षेत्र में साफ़-सफाई होती या फिर ठेकेदार कंपनी से मासिक जेब ढीली करने पर उन्हें बचाने का सिलसिला जारी हैं.

जोनल कर्मी हस्ताक्षर कर निजी काम करते
बोकारे के नेतृत्व में २०% सफाई कर्मी ऐसे हैं,जो सिर्फ हाजिरी लगाते और गायब हो जाते।आसपास के परिसर का मासिक ठेका लेकर जरूरतानुसार आदमी रख साफ़-सफाई के ठेकेदार बन गए हैं,इसके एवज में बोकारे को फायदा पहुंचा रहे.