Published On : Tue, Jun 5th, 2018

संघ के नागपुर मुख्यालय में होगा ईद मिलन समारोह

Advertisement

नई दिल्ली: रमजान के मौके पर आरएसएस के इतिहास में पहली बार ईद मिलन का कार्यक्रम नागपुर स्थित मुख्यालय में आयोजित किया जाएगा। इफ्तार पार्टी के बाद आरएसएस की तरफ से ईद मिलन का कार्यक्रम आयोजित करना सभी के लिए हैरानी भरा फैसला है। जानकारी के मुताबिक, ये समारोह नागपुर स्थित संघ के मुख्यालय में किया जाएगा। बताया जा रहा है कि इस कार्यक्रम का आयोजन अगस्त में किया जा सकता है।

संघ के नागपुर मुख्यालय में होगा ईद मिलन समारोह

Advertisement
Advertisement

ईद मिलन समारोह के इस कार्यक्रम का आयोजन राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के राष्ट्रीय मुस्लिम मंच की तरफ से किया जाएगा। इस खबर के आने के बाद सियासी जानकारों का कहना है कि संघ की तरफ से ये फैसला 2019 लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। जाहिर है कि संघ के इस स्टेप का फायदा भाजपा को 2019 के चुनाव में हो सकता है, क्योंकि आरएसएस भी मुस्लिमों को अपने पाले में करने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है।

विपक्षियों ने किया विरोध
आरएसएस के ईद मिलन समारोह को लेकर सियासी बयान भी सामने आने शुरू हो गए हैं। समाजवादी पार्टी नेता अबू आसिम आजमी ने कहा कि राम मंदिर के निर्माण के लिए ईंटें भेजने वाले मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की इफ्तार पार्टी एक ढोंग के सिवा कुछ नहीं। इस तरह के आयोजन की निंदा और बहिष्कार किया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि देश का मुसलमान आरएसएस के हिंदुत्वादी एजेंडे की वजह से काफी नाराज रहा है।

दो दिन पहले मुंबई में हुई थी इफ्तार पार्टी
आपको बता दें कि मुस्लिम समुदाय तक अपनी पहुंच बनाने के लिए साल 2015 में आरएसएस की तरफ से ऐसे आयोजनों की शुरुआत हुई थी, जिसकी जिम्मेदारी संघ के प्रचारक इंद्रेश कुमार ने ली है। उन्होंने कल मुंबई में इफ्तार पार्टी का भी आयोजन किया था, जिसपर विवाद भी उभर के सामने आए हैं।

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement