Published On : Mon, Aug 26th, 2019

ऋषि खोसला हत्याकांड के 4 आरोपी गिरफ्त में, सात हजार की सुपारी में हुआ कत्ल

नागपुर. अवैद्ध संबधों के कारण हुई खोसला की हत्या में पकडे. आरोपी को सुपारी में मिले थे मात्र सात हजार रू. एडवांस और शेष रूपये बाद में देने को कहा गया था. सभी आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है संभव है पुलिस के सामने कुछ और राज निकल कर सामने आये.बताया जा रहा है कि हत्या के बाद ही आरोपी की परित्यक्ता पत्नी नें पुलिस आयुक्त डा.भूषण कुमार उपाध्याय को अपने पति मिक्की के हत्या में शामिल होने की बात कही थी. पुलिस आयुक्त नें मामले की गंभीरता से जांच कराई और आरोपियों की शीघ्र गिरप्तारी हो सकी है.

नागपुर पुलिस परिमंडल दो की उपायुक्त विनिता साहू सहित सहायक पुलिस आयुक्त विजय मराठे बरिष्ठ पोलिस निरीक्षक महेश बनसोडे. पुलिस निरीक्षक (गुन्है) अमोल देशमुख के मार्गदर्शन में पुलिस दल ने सभी आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली है. गिरफ्तार आरोपियों मे बबन उर्फ राहुल कळमकर पर हत्या और घरफोडी. के मामले पहले से ही दर्ज हैं. शेष आरोपियों में कुणाल उर्फ चाईना, आरिफ इनायत खान,अजीज अहमद उर्फ पांग्या को गिरफ्तार किया गया है.एक आरोपी राहुल आटो चालक है तथा एक कुणाल ओला कारचालक है.

ऋषि खोसला की हत्या के संबंध में कहा जा रहा है कि उसके करीबी दोस्त रहे मिक्की बख्शी और उसके साथी गिरीष दासरवार नें मास्टरमाईंड के रूप में इस घटना के सूत्रधार का काम किया है. राहुल नें जब अपने बच्चे की तबीयत खराब होने पर गिरीश दासरवार से पचास हजार रूपये मांगे तो गिरीश नें सात हजार रूपये एडवांस देकर ऋषि खोसला की हत्या का सौदा कर लिया.इस मामले से जुडे. कुछ और नाम भी सामने आ सकते हैं पुलिस ने आरोपियों को रिमांड पर लिया है.

शहर के गोंडवाना चौक पर हुई हत्या के बाद से ही इसे सुपारी किलिंग माना जा रहा था. बताया जाता है कि रूपिन्दरसिंग उर्फ बलबीर सिंग बक्षी एवं गिरीश उर्फ नानू अशोक दासरवार इस घटना के मुख्यसूत्रधार हैं जिन्हें पुलिस नें 28 अगस्त तक रिमांड पर लिया है.मिक्की की पत्नी मधु से ऋषि के कथित अवैद्ध संबंधों की कहानी भी सामने आई है.घटना को पूर्वनियोजित योजना के तहत अंजाम दिया गया. बाद में मिक्की और गिरीश की गिरफ्तारी के बाद अन्य आरोपियों के नाम के खुलासे हुए हैं

उपायुक्त विनिता साहू ने पत्रपरिषद के दौरान सभी गिरफ्तार आरोपियों के नामों का खुलासा किया. इसी दौरान बताया गया कि गिरफ्तार आरोपी राहुल नें नानू उर्फ गिरीश से सात हजार रूपये एडवांस लिये. आरोपी राहुल पर पहले से ही गंभीर आरोप दर्ज हैं.इस कार्रवाई में वरि.पो. निरीक्षक महेश बंसोडे, पोलिस निरीक्षक अमोल देशमुख की गुन्है टीम के पोलिस उपनिरीक्षक गोसावी, पोलिस हवलदार विनोद तिवारी नपोशि सुशांत साळुखे, नपोशि सुधीर मंडावी,पोशि संदीप पांडे, पोशि बालवीर मनमोडे.पोश निशांत करांडे तथा चालक हवलदार सुनील निलाबार नें अपना योगदान किया.