Published On : Mon, Aug 26th, 2019

नागपुर गीतांजलि चौक स्थित स्कूल के परिसर मे अटल बिहारी वाजपेई ई लाइब्रेरी का किया जा रहा निर्माण

– इमारत के ऊपर सौर उर्जा के पैनल लगे रहेंगे जो ग्रीन बिल्डिंग के अनुरूप ऊर्जा निर्माण का काम करेंगे

नागपुर – शहर की उपलब्धि में एक नया अध्याय जुड़ने जा रहा है जो नागपुर शहर के विद्यार्थियों के लिए एक अनुपम सुविधा होगी नागपुर महानगर पालिका द्वारा सेंट्रल एवेन्यू रोड गीतांजलि चौक स्थित लाल स्कूल के परिसर में ब्रिटिश ई लाइब्रेरी के कंसेप्ट के आधार पर भारत रत्न श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेई जी की स्मृति में ई लाइब्रेरी का निर्माण किया जा रहा है अत्यधिक आधुनिक सुविधाओं से युक्त यह ई लाइब्रेरी शहर के लिए दिशा दर्शक व विद्यार्थियों के लिए मार्गदर्शक साबित होगी महानगरपालिका के द्वारा निर्मित इस लाइब्रेरी की लागत करीब 5 करोड़ रुपए प्रस्तावित है यह ई लाइब्रेरी तीन मंजिला इमारत में होगी तल मंजिला अर्थात ग्राउंड फ्लोर पार्किंग के लिए उपयोग में आएगा प्रथम मंजिल पर 125 विद्यार्थियों के लिए प्रेजेंटेशन, सेमिनार या वर्कशॉप की दृष्टि से वातानुकूलित ऑडिटोरियम का निर्माण किया जाएगा इसी फ्लोर में एक क्लॉक रूम होगा जहां बाहर गांव से आने वाले विद्यार्थी अपना सामान जमा करके पढ़ाई करने के लिए लाइब्रेरी में जा सकेंगे इसी मंजिल पर लाइब्रेरी का व्यवस्थापन कार्यालय भी होगा|

द्वितीय मंजिल पर 25 छात्रों के बैठने के लिए 25 कंप्यूटर 24 घंटे इंटरनेट की सुविधा से युक्त होंगे जहां 25 बच्चे एक साथ अध्ययन कर सकेंगे अधिकांश आने वाले बच्चे समूह में पढ़ाई करने आते हैं एवं 1 फैकल्टी के चार पांच बच्चे साथ साथ आते हैं इस बात को ध्यान रखकर उन्हें पढ़ने के बाद ग्रुप डिस्कशन करने के लिए अलग से तीन कैबिन की व्यवस्था की गई है जिसमें चार चार बच्चे बैठकर ग्रुप डिस्कशन कर सकें उसी प्रकार इन छात्रों के अध्ययन पश्चात पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के लिए एक अलग कक्ष का निर्माण किया गया है जहां यह छात्र पढ़े गए साहित्य के आधार पर पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन कर सकें इसके अलावा वहां छात्रो के लिए स्वतंत्र प्रसाधन गृह की व्यवस्था है , इसी मंजिल पर साथ ही साथ पैंट्री का भी निर्माण किया जाएगा जिसका उपयोग बच्चे रिफ्रेशमेंट के लिए कर सके , उसी के साथ इन छात्रों के कीमती वस्तुओं के संरक्षण की दृष्टि से इसी फ्लोर में अलग से लाकर रूम की व्यवस्था भी की गई है ।

तीसरी मंजिल का निर्माण भी दुसरी मंजिल की तर्ज पर किया जाएगा यहां भी वही सारी सुविधाएं उपलब्ध होगी जो दुसरे मंजिल पर उपलब्ध है , तीसरी मंजिल केवल छात्राओं के लिए हैं ।

3 मंजिल इमारत के ऊपर सौर उर्जा के पैनल लगे रहेंगे जो ग्रीन बिल्डिंग के अनुरूप ऊर्जा निर्माण का काम करेंगे साथ ही साथ ऊर्जा बचत में भी सहयोग करेंगे लाइब्रेरी के निर्माण से न केवल होनहार छात्र बल्कि आर्थिक दृष्टि से कमजोर विद्यार्थियों को भी नाम मात्र के शुल्क पर अध्ययन के लिए योग्य अत्याधुनिक व्यवस्था उपलब्ध होगी यह संपूर्ण इमारय पूर्णत: वातानुकूलित होगी अच्छे वातावरण में अच्छी शिक्षा प्रदान कर नए भारत के निर्माण हेतु अच्छे विद्यार्थी मेधावी विद्यार्थी तैयार करना यही इसके पीछे का उद्देश्य है श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेई इन्होंने अपने प्रधानमंत्री के कार्यकाल में शिक्षा को मौलिक अधिकारों से जोड़ा और सभी को शिक्षित करने का संकल्प लिया इस दृष्टि से यह आधुनिक शिक्षण प्रशिक्षण का मंदिर अटल जी की स्मृति को समर्पित है माननीय मुख्यमंत्री महोदय ने 6 मार्च को जब वे गीतांजलि चौक से गांधी सागर तालाब तक रोड के भूमि पूजन समारोह में आए थे तब मेरे निवेदन पर इस निर्माण कार्य हेतु 5 करोड रुपए की राशि राज्य सरकार की ओर से विशेष अनुदान के रूप में देने की घोषणा की थी यह राशि विधानसभा चुनाव से पूर्व हमें प्राप्त हो जाएगी वर्तमान में महानगर पालिका ने स्वयं के अर्थ संकल्प में इस कार्य के लिए निधि रखी है इस प्रकल्प का टेंडर हो चुका है कार्यादेश भी हो चुका है गणेश उत्सव के दरमियान इस ऐतिहासिक प्रकल्प का भूमि पूजन करने का मानस है इस संपूर्ण प्रकल्प हो नागपुर शहर के होनहार और ख्यातनाम आर्किटेक्ट श्री प्रशांत सातपुते इन्होंने डिजाइन किया है।

यह प्रकल्प नागपुर महानगरपालिका के मुख्य अभियंता देबडवार,अधीक्षक अभियंता मनोज तालेवार के नेतृत्व में उप अभियंता रविन्द्र बुंधाड़े, कनिष्ठ अभियंता सुरेन्द्र दूधे,स्थापत्य सहायक सुनील दुमाने के निरिक्षण में किया जा रहा है।यह ई लाइब्रेरी आने वाली पीढ़ी के लिए वरदान साबित होगी ऐसा मेरा विश्वास है.